उत्तरा न्यूज
अभी अभी बागेश्वर

Bageshwar- वन सम्पदा के बचाव और वनाग्नि नियंत्रण के लिए मॉडल क्रू-स्टेशन जौलकाण्डे का हुआ लोकार्पण

खबरें अब पाए whatsapp पर
Join Now

बागेश्वर। 13 अप्रैल, 2022- वन है तो जन है, ब्रिटिश कालीन वन विभाग के जीर्ण-शीर्ण क्रू-स्टेशन को 19 लाख की धनराशि से पुर्ननिर्मित मॉडल क्रू-स्टेशन जौलकाण्डे का सूबे के समाज कल्याण एवं परिवहन, उद्योग मंत्री चन्दन राम दास, विधायक सुरेश गड़िया ने बुधवार को लोकापर्ण किया। जनपद में 824 वन पंचायतें है जिनमें से मुख्य अतिथियों द्वारा प्रथम चरण में 120 वन पंचायत सरपंचों को 10-10 हजार के चैक वितरित किये गये।

कार्यक्रम में सम्बोधित करते हुए मंत्री दास ने मॉडल क्रू-स्टेशन बनाने पर क्षेत्रीय जनता व विभाग को बधाई दी। उन्होंने कहा कि इसका उद्देश्य अवश्य पूर्ण होगा व वन सम्पदा का संरक्षण होगा व जनता को लाभ मिलेगा। उन्होंने वन सम्पदा बचाने व वनाग्नि नियंत्रण हेतु जन प्रतिनिधियों व जनता को आगे आने तथा जनता को वनों के लाभ-हानि बताकर जन जागरूकता करने को कहा।

उन्होंने कहा कि वाहनों दुर्घटना कम हो ऐसी व्यवस्था की जायेगी, जहॉ दुर्घटना भी होती तो ग्रामाणों को दुर्घटना बचाव का प्रशिक्षण दिया जायेगा ताकि दुर्घटना के समय क्षेत्रवासियों द्वारा तुरंत घायलों की सहायता व उपचार दे सके। उन्होंने कहा जौलकाण्डे सड़क 7.5 किमी का डामरीकरण प्रस्थाव स्वीकृत हो गया है तथा जौलकाण्डे से आगे 02 किमी सड़क स्वीकृत किया गया है व साथ ही बोरगॉव 2 किमी सड़क का भी डामरीकरण षीघ्र ही प्रारम्भ किया जायेगा।

विधायक कपकोट सुरेश गड़िया ने कहा कि कू-स्टेशन में आधुनिक उपकरण रखें गये है, जिसका लाभ क्षेत्र की आग बुझाने में मिलेगा। उन्होंने जनप्रतिनिधियों, जनता से पर्यावरण बचाने व वनों की आग बुझाने में सहयोग करने की अपील की तथा जन जागरूकता की अपील भी की।
जिलाधिकारी विनीत कुमार ने कहा कि उत्तराखण्ड आपदा क्रोन प्रदेश है उनमें से वनाग्नि भी है, इसलिए वनाग्नि बुझाने में सभी की अहम भूमिका होती है। उन्होंने जनता को सहयोग करने की अपील की।

प्रभागीय वनाधिकारी हिमांशु बागरी ने बताया कि जनपद में अभी तक 60 वनाग्नि घटनायें हुयी है जिससे 85 हैक्टेयर वन क्षेत्र प्रभावित हुआ है। उन्होंने बताया कि इस मॉडल क्रू-सेंटर में आग बुझाने के सभी आधुनिक उपकरण के साथ ही रहने की व्यवस्था की गयी है। उन्होंने बताया कि जनपद में 01 लाख हैक्टेयर वन है जिसमें 65 प्रतिशत आरक्षित वन तथा 35 प्रतिशत वन पंचायतें है। उन्होंने बताया कि वनाग्नि पर ड्रोन से भी नजर रखी जा रही है। उन्होंने कहा वनाग्नि से पारिस्थितिकी को भारी नुक्सान पहुॅचता है वनाग्नि को रोकने के लिये उन्होंने जन सहयोग की अपील की। इस अवसर पर मुख्य अतिथियों द्वारा वृक्षारोपण भी किया गया।

इस अवसर पर अध्यक्ष जिला पंचायत बसंती देव, जिलाध्यक्ष भाजपा शिव सिंह बिष्ट, ब्लाक प्रमुख पुष्पा देवी, नगर पालिका अध्यक्ष सुरेश सिंह खेतवाल, गोविन्द टंगडिया, विक्रम साही, संजय साह जगाती, किशन सिंह मलड़ा, उप प्रधान नैना लोहनी, नरेष उप्रेती, भुवन उप्रेती, किशोर शर्मा, नवीन नमन, सुन्दर सिंह भाकुनी, खड़क सिंह, इन्द्र सिंह फर्स्वाण, गिरीश परिहार, राजेन्द्र परिहार सहित मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 सुनीता टम्टा, रैंज अधिकारी श्याम सिंह करायत व वन पंचायत सरपंच आदि मौजूद थे।

Related posts

कर्नाटक के सिपाही की मौत पर रहस्य बरकार, परिवार ने की जांच की मांग

Newsdesk Uttranews

जन्माष्टमी पर आँचल लॉन्च करेगा पहाड़ी गाय का दूध

Newsdesk Uttranews

Almora Breaking— आंगन में खाना बनी रही महिला पर गुलदार ने किया हमला, ग्रामीणों में दहशत

Newsdesk Uttranews