cm

देहरादून, 16 फरवरी 2021
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने राजकीय हॉस्पिटल डोईवाला में आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड (Ayushman Golden Card) बनाने के लिए आयोजित विशेष शिविर में कुछ लोगों को फर्जी कार्ड जारी किए जाने की शिकायत को गंभीरता से लेते हुए जिलाधिकारी देहरादून को प्रकरण की तत्काल जांच कराकर कार्रवाई किए जाने के निर्देश दिए हैं।

Akashwani Almora- आकाशवाणी केंद्र अल्मोड़ा ने की नई पहल

अठूरवाला के राजेश द्विवेदी ने यह शिकायती पत्र भेजा था। द्विवेदी ने शिकायती पत्र में उल्लेख किया कि 9 दिसंबर, 2019 को राजकीय हॉस्पिटल डोईवाला में अटल आयुष्मान भारत कार्ड (Ayushman Golden Card) बनाने के लिए विशेष कैंप आयोजित किया गया था। इसमें प्रार्थी ने पत्नी और 2 पुत्रों के साथ आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड बनवाने गए थे।

वहां कैंप में मौजूद कम्प्यूटर पर बैठे व्यक्ति द्वारा आधार कार्ड (Ayushman Golden Card) के माध्यम से बायोमैट्रिक्स वेरिफिकेशन कर व प्रति कार्ड 70 रुपए भुगतान लेकर परिवार के सभी सदस्यों के कार्ड जारी किए गए थे। चारों कार्ड में आयुष्मान भारत कार्ड व उत्तराखंड सरकार का विज्ञापन भी संलग्न है।

जब प्रार्थी ने इन कार्डों का सत्यापन पीएमजेएवाई.जीओवी.इन वेबसाइट के जरिए करवाया तो चारों कार्ड फर्जी साबित हुए। इसकी शिकायत तुरंत उन्होंने आयुष्मान भारत कार्ड योजना (Ayushman Golden Card) प्रभारी पंकज नेगी से की तो उन्होंने भी अपने सर्वर पर चारों कार्ड की जांच की। चारों कार्ड फर्जी होने की पुष्टि हुई।

KRC RANIKHET– भर्ती रैली में दूसरे दिन दौड़े 1354 अभ्यर्थी

प्रार्थी ने आशंका जताई की इस तरह की आपराधिक साजिश अन्य लोगों से भी हो सकती है। इसलिए इसकी जांच की जानी चाहिए।

कृपया हमारे youtube चैनल को सब्सक्राइब करें

https://www.youtube.com/channel/UCq1fYiAdV-MIt14t_l1gBIw/