Join WhatsApp

News-web

सीआरपीएफ का कांस्टेबल घूमता था लग्जरी कार में, पुलिस ने पकड़ा तो सच्चाई जानकर उड़ गए होश

Published on:

रामपुर में सोना तस्करों से गोल्ड लूटने वाले बदमाशों की चेकिंग के दौरान मिलक पुलिस और एसओजी की मुठभेड़ हो गई। इस मुठभेड़ में एक बदमाश को गोली लग गई जिससे वह घायल हो गया। इसमें तीन बदमाशों को गिरफ्तार भी किया गया जिनके पास अवैध तमंचे, कार भी बरामद हुई है।

पुलिस ने जब घायल बदमाश से पूछताछ की तो उसने अपने साथियों का नाम भी बताया जिनमें से एक रामपुर सीआरपीएफ में तैनात हेड कांस्टेबल भी था। पुलिस ने  सीआरपीएफ के हेड कांस्टेबल सहित पांच लोगों को सोना तस्करों से लूट के मामले में गिरफ्तार किया है। इन सभी से करीब 35 से 36 लाख का सोना और 13 लाख रुपये बरामद हुए हैं।

इस पूरे मामले में एसपी रामपुर राजेश द्विवेदी का कहना है की मिलक पुलिस और एसओजी द्वारा चेकिंग की जा रही है। तभी ड्राइवर को कार रोकने का इशारा किया गया लेकिन वह नहीं रुका और उसने स्पीड और बढ़ा दी लेकिन आगे जाकर कर अटक गई फिर कार सवार बदमाशों ने पुलिस की टीम पर फायरिंग की। पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग की और बदमाश के पैर पर गोली मार दी दो बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

घायल बदमाश से जब पूछताछ की गई तो पता चला उसका नाम शफीक है। वह हिस्ट्रीशीटर है और उस पर कई मुकदमें लूट के दर्ज हैं। गिरफ्तार बदमाशों से दो सोने के गोले, आठ लाख रुपये, अवैध शस्त्र और कार बरामद हुई।

सभी बदमाशों का कहना है कि इन्होंने अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर मिलक बॉर्डर पर जो तस्कर गोल्ड लेकर आए थे। उनसे लूट की थी। उन्हीं से सोने के चार गोले लूटे गए थे दो गोले उनमें से बेच दिए गए और दो आज बेचे जाने थे। इन गोलों की कीमत 35 से 36 लख रुपए बताई जा रही है। तीन के पास से पुलिस को आठ लाख रुपये की नकदी बरामद हुई। इन बदमाशों ने अपने अन्य साथियों के नाम भी बताए। दो और इनके साथी अरेस्ट किये हैं जिनसे करीब 5 लाख रुपये बरामद किए। कुल 13 लाख रुपये बरामद किए।

एसपी ने बताया कि कुछ लोग जो टांडा में इस तरह (सोना तस्करी) काम करते थे। वो लखनऊ एयरपोर्ट से फरार हो गए थे। उसके लिए भी कस्टम और स्थानीय पुलिस छापेमारी कर रही है।एयरपोर्ट के मामले में वो लोग पेट में अपने डालकर सोना लाते थे।गिरफ्तार आरोपियों में एक सीआरपीएफ का हेड कॉन्सटेबल भी है और रामपुर में ही तैनात है। उसे भी गिरफ्तार कर लिया गया है। जिन लोगों से सोना लूटा गया था, वे चारों लोग रामपुर के टांडा थाना क्षेत्र के ही रहने वाले हैं।