News-web

केदारनाथ में श्रद्धा का सैलाब, यमुनोत्री मार्ग पर पैर रखने की जगह नहीं

Published on:

चारधाम यात्रा का दूसरा दिन श्रद्धालुओं के उत्साह से भरा रहा। केदारनाथ धाम में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी है, वहीं यमुनोत्री पैदल मार्ग पर पांव रखने तक की जगह नहीं बची है। बड़कोट से जानकीचट्टी तक श्रद्धालु जगह-जगह फंसे रहे। वाहनों की लंबी कतारें सुबह से लगी रहीं। पैदल मार्ग पर जाम के कारण श्रद्धालुओं को मंदिर तक पहुँचने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

बता दें, केदारनाथ धाम में 30 हजार से अधिक श्रद्धालुओं ने दर्शन कर एक नया रिकॉर्ड बनाया है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने केदारनाथ धाम पहुंचकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम से देशवासियों की सुख समृद्धि के लिए पूजा-अर्चना की।

चारधाम यात्रा शुरू होने के साथ ही पंजीकरण का आंकड़ा 23 लाख के पार हो गया है। केदारनाथ के लिए सर्वाधिक 8 लाख से अधिक पंजीकरण हुए हैं, जबकि बद्रीनाथ धाम के लिए 7 लाख से अधिक, यमुनोत्री के लिए 3 लाख से अधिक और गंगोत्री के लिए 4 लाख से अधिक पंजीकरण हुए हैं। हेमकुंड साहिब के लिए भी 50 हजार से अधिक पंजीकरण हो चुके हैं।

केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट खुलने के साथ ही श्रद्धालुओं में अभूतपूर्व उत्साह देखने को मिल रहा है। पंजीकरण को लेकर भी होड़ मची हुई है। पहले दिन जिस तरह से श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी है, उससे अनुमान लगाया जा रहा है कि आने वाले दिनों में यह संख्या और भी बढ़ सकती है।