News-web

सावधान ! कोरोना की तरह ही डरावने है हीट वेव के आंकड़े, तीन महीने में 143 की मौत

देश भर में लू जानलेवा साबित हुई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक लू के कारण एक मार्च से 20 जून के बीच 143 लोगों की मौत हुई है, इससे करीब 41789 लोग संदिग्ध हीट स्ट्रोक से पीड़ित हुए हैं।लू से मौतों का आंकड़ा इससे अधिक होने की संभावना है, क्योंकि राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र द्वारा राष्ट्रीय गर्मी संबंधी बीमारी एवं मृत्यु निगरानी के तहत संकलित किए गए आंकड़ों में राज्यों की ओर से प्रदान की अद्यतन जानकारी शामिल नहीं है।

कई मेडिकल सेंटरों ने अब तक लू से जान गंवाने लोगों की संख्या को अपलोड नहीं की गई है। आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, 20 जून को ही हीट स्ट्रोक के कारण 14 लोगों की मृत्यु की पुष्टि हुई है। वहीं संदिग्ध हीट स्ट्रोक के कारण नौ लोगों की जानें गई, जिससे मार्च से जून की अवधि में लू से मरने वालों की संख्या 114 से बढ़कर 143 हो गई है।आंकड़ों के अनुसार, उत्तर प्रदेश सबसे अधिक प्रभावित है, जहां 35 मौतें हुई हैं, इसके बाद दिल्ली (21) और बिहार-राजस्थान (17-17) का स्थान है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने गुरुवार (20 जून) को अधिकारियों से कहा कि वे भीषण गर्मी की स्थिति जारी रहने तक केंद्र के तहत आने वाले अस्पतालों का दौरा करें, ताकि यह पता लगाया जा सके कि प्रभावित मरीजों के लिए अलग से व्यवस्था की गई है या नहीं साथ ही पिछले कुछ दिनों में लू के कारण हुई मौतों की संख्या का भी आकलन किया जा सके।