News-web

रेलवे में आई जमीन लेकिन पिता ने अपने ही बेटे को हिस्सा देने से किया माना, फिर बेटे ने अपनाया अनोखा तरीका

Published on:

पिता से भाई के साथ बराबर के हिस्सेदारी के लिए गोड्डा के एक शख्स ने अनोखा तरीका निकाला। इसके बाद पूरे जिले में उसकी चर्चा हो रही है।पिता की संपत्ति में हर बच्चे का बराबर का हक होता है। भाई के साथ बराबर के हिस्सेदारी न होने पर मामला पुलिस और कोर्ट तक पहुंच जाता है और कोर्ट के चक्कर लगाते लगाते जूते चप्पल घिस जाते हैं लेकिन पिता से भाई के साथ बराबर की हिस्सेदारी के लिए गोड्डा के ऐसा अनोखा तरीका निकाला।

इसके बाद जिले भर में उसकी चर्चा हो रही है। मामला गोड्डा के महागामा का है। जहां महागामा के एक शख्स अपने पिता से रेलवे में गई जमीन के पैसे में हिस्सेदारी मांगने के लिए बैंड बाजे के साथ मोहल्ले में घूमने लगा।

हिस्सेदारी मांग रहे महागामा निवासी ओम प्रकाश शुक्ला ने बताया कि महागामा के महूआरा में उनकी जमीन थी जो रेलवे में गई थी और सरकार से करोड़ों रुपए पिताजी को मिले हुए थे, लेकिन पिछले दो महीने से उनके पिताजी वह पैसे नहीं देना चाह रहे थे। सारा पैसा अपने बड़े बेटे को देना चाहते थे। इसके बाद पहले समाज में पंचायती भी हुई थी और अपने हिस्सेदारी के लिए उसने न्यायिक दरवाजे भी खटखटाए थे लेकिन जब कहीं भी बात ना बनी तो उन्होंने यह अनोखा तरीका अपनाया।

फिर पंचायत में पहुंचा मामला

मोहल्ले में बैंड बाजा लेकर घूमने के बाद लोग काफी हैरान हो गए और एक पंचायत बिठाई गई जिसमें यह फैसला लिया गया कि दोनों बेटों को बराबर की हिस्सेदारी देनी होगी। वहीं छोटे बेटे ओम प्रकाश का कहना है कि पिता ने अभी स्वीकार किया है कि वह पैसे बराबर बाटेंगे लेकिन जब तक पैसे अकाउंट में नहीं आ जाता, तब तक वह बैंड बाजा इसी प्रकार बजवाते रहेंगे।