Balveer Rawat is populating the barren fields of the mountain

रामनगर मंयक मैनाली बता रहे है पौड़ी के युवा के अनोखे प्रयोग के बारे में

पौड़ी जिले के पाबौ व्लाक के बुरांसी गांव के युवा किसान बलबीर रावत ने बंजर (Barren Fields) खेतों को आबाद कर मिसाल कायम की है। प्रदेश के एकमात्र औद्यानिकी (हार्टिकल्चर ) के विश्वविद्यालय भरसार के निकट रहने वाले युवा किसान की मेहनत से प्रोत्साहित होकर अब अन्य ग्रामीण भी बंजर खेतों (Barren Fields) को आबाद करने का मन बना रहे हैं।

किसान बलवीर दिल्ली में एक प्राइवेट कंपनी से नौकरी छोड़ फिर से गांव में रहकर बंजर खेतों (Barren Fields) को आबाद करने का काम कर रहे है। राठ क्षेत्र के बुरांसी गांव के 35 साल के किसान बलबीर रावत ने करीब 1 साल पहले बंजर खेतों (Barren Fields) को फिर से आबाद करने का मन बनाया। किसान बलबीर बताते हैं कि उनका दिल्ली में प्राइवेट नौकरी में मन नहीं लग रहा था। वह अपने पुश्तैनी घर व खेतों को फिर से आबाद करना चाहते थे। जिस पर वह वापस गांव लौट आए। इसके बाद बलबीर ने बंजर खेतों (Barren Fields) को फिर से आबाद करने को लेकर कड़ी मेहनत करनी शुरू कर दी। पिछले 1 साल से बंजर खेतों (Barren Fields) को आबाद कर खेती कर रहे युवा किसान क्षेत्र में कृषि के क्षेत्र में अपनी एक अलग पहचान बना रहे है।

बताते है कि बिना किसी सरकारी मदद के अपनी मेहनत से बंजर जमीन को आबाद किया है। युवा किसान ने कई एकड़ बंजर भूमि में प्याज, टमाटर, राई, अदरक, लहसन, आलू, मटर, शिमला मिर्च, खीरा, कद्दू का उत्पादन कर रहे हैं। उन्होंने 100 मीटर लंबी नहर खोदकर पाइप लाइन से पानी की सप्लाई भी खेतों में की हुई है।

किसान बताते हैं कि खेतों के आस-पास बिजली न होने से रात को जंगली जानवरों का खतरा बना रहता है फिर भी टिन शेड में मोमबत्ती, दिया, लकड़ी जलाकर रात गुजार के खेती की रखवाली की जाती है। बलवीर पशु पालन भी कर रहे हैं। उन्होंने बकरियाँ भी पाली हैं। चक्की भी लगाई हुई है।

किसान बलबीर रावत के साथ कुंवर सिंह, महाबीर खंकरियाल भी उनको खेती करने में मदद कर रहे हैं। क्षेत्र के सामाजिक कार्यकर्ता सुरेंद्र प्रसाद नौटियाल का कहना है कि युवा किसान बलबीर रावत द्वारा खेती में बेहतर कार्य किया जा रहा है। इससे अन्य ग्रामीणों को भी प्रेरणा मिल रही है। सरकार को ऐसे युवाओं को विशेष प्रोत्साहन देना चाहिए। जिससे पलायन पर रोक लगाई जा सके।वही बलवीर जहां युवाओं को प्रेरित कर रहे हैं, वहीं उन्नत तकनीकी की खेती भी चर्चाओं में है।