News-web

पीएनबी में हुआ गजब कारनामा, फर्जी लोन सैंक्शन कर हड़प लिए लाखों रुपए, फिर ऐसे खुला मामला

Published on:

PNB Loan Fraud: पंजाब नेशनल बैंक देश का सबसे बड़ा बैंक है या सरकारी क्षेत्र का दूसरा बड़ा बैंक है लेकिन इसके अधिकारी अपने कामों से बैंक को लगातार शर्मसार करते रहते हैं और खुद फिर सलाखों के पीछे भी चले जाते हैं।

ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश के बलरामपुर से सामने आ रहा है  इसमें बैंक के अधिकारी ने एक साजिश रची और एक वृद्ध के नाम 10 लाख रुपए का लोन सेक्शन कर दिया और फिर उसे हड़प लिया। देश के सरकारी बैंकों में शामिल पंजाब नेशनल बैंक काफी बड़ा बैंक है लेकिन कभी-कभी यहां के अधिकारी इस बैंक पर दाग लगा देते हैं। अब इसी तरह की धोखाधड़ी का मामला उत्तर प्रदेश के बलराम जिले से आया है। हालांकि यह मामला महज 10 लाख रुपये का ही है। लेकिन इससे बैंक का नाम तो खराब होता ही है।

क्या है मामला

बताया जा रहा है कि उत्तर प्रदेश के बलरामपुर जिले में तैनात बाल पंजाब नेशनल बैंक के एक शाखा प्रबंधक को कर्ज देने के नाम पर साजिश और धोखाधड़ी से रुपए हड़पने के आरोप में कानपुर से गिरफ्तार कर लिया गया है। नगर क्षेत्र के पुलिस क्षेत्राधिकार ब्रजनंदन राय का कहना है कि कोतवाली देहात के मानिककोट गांव का यह मामला है। वहां के निवासी दिनेश कुमार मिश्र ने आरोप लगाया है कि बलरामपुर स्‍थित पंजाब नेशनल बैंक के शाखा प्रबंधक एवं अन्य चार कर्मचारियों ने उनकी वृद्ध माता कांति देवी के नाम पर फर्जी तरीके से 10 लाख का ऋण स्वीकृत कर दिया। बाद में वे लोन के रुपये हड़प लिए। कुछ समय बाद उस लोन की वसूली करने के नाम पर दिनेश कुमार मिश्र का घर और टैक्टर कुर्क करने की धमकी दी।

मामला पहुंचा पुलिस तक

इसके बाद दिनेश मिश्रा ने पुलिस से मदद मांगी बृजनंदन राय का कहना है कि बैंक से जब उन्होंने ऋण के कागजात मांगे तो वह उन्हें नहीं दे पाए इसके बाद अदालत में पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की धोखाधड़ी सहित अन्य धाराओं में बैंक पर मुकदमा दर्ज किया। जांच के दौरान पता चला की क्रांति देवी के नाम से लोन लिया गया लेकिन यह लोन उनको कभी दिया ही नहीं गया और ना ही उसे पर कांति देवी के हस्ताक्षर थे। पता चला कि वहां तैनात अधिकारी नितेश शुल्का ने धाखाधड़ी की यह साजिश रची थी। इस लोन अकाउंट का पैसा निकाल कर हड़प लिया गया।

पीएनबी का ब्रांच मैनेजर हुआ गिरफ्तार

पुलिस के मुताबिक, वर्तमान में उन्नाव जिले के इंद्रामऊ शाखा प्रबंधक के तौर पर कार्यरत नितेश शुक्ला को कानपुर से गिरफ्तार कर लिया गया है।