News-web

अल्मोड़ा:: सिमकनी मैदान में सैकड़ों लोगों ने एक साथ किया योगाभ्यास

By editor1

Published on:

Almora: Hundreds of people practiced yoga together in Simkani ground

योग विज्ञान विभाग द्वारा सिमकनी मैदान में हुआ अंतराष्ट्रीय योग दिवस का आयोजन, सैकड़ों लोगों ने एक साथ किया कॉमन योगा प्रोटोकॉल का सामुहिक योगाभ्यास, एनसीसी, एसएसबी, आईटीबीपी, नेहरू युवा केन्द्र, जिला गङ्गा सुरक्षा समिति, ज़िला विधिक सेवा प्राधिकरण, छावनी परिषद सहित अल्मोड़ा जनपद के विभिन्न विभागों, शैक्षणिक गैर शैक्षणिक संस्थानों के साथ ही आमजनमानस ने किया एक साथ योग

अल्मोड़ा, 21 जून 2024- योग विज्ञान विभाग सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय द्वारा सिमकनी मैदान में दशम् अंतराष्ट्रीय योग दिवस का भव्य आयोजन किया गया।


अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर मुख्य अतिथि रूप में विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति प्रो.जगत सिंह बिष्ट, विशिष्ट अतिथि प्रो.प्रवीण सिंह बिष्ट (निदेशक,सोबन सिंह जीना परिसर,अल्मोड़ा), एनसीसी 77 बटालियन के कमान अधिकारी कर्नल जितेंद्र शर्मा, लेफ्टिनेंट कर्नल नंदा बल्लभ, एन0सी0सी 24 बटालियन के सूबेदार उमेश चन्द्र, जितेंद्र,अधिष्ठाता छात्र कल्याण प्रो.शेखर जोशी, आईटीबीपी व एसएसबी के इंस्पेक्टर भुपाल सिंह व आर एल मेगवंशी आदि ने संयुक्त रुप से दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

संचालन करते हुए रजनीश जोशी ने बताया कि योग विज्ञान विभाग द्वारा विगत 21 मई से 21 जून तक आमजनमानस को योग के प्रति जागरूक करने हेतु एक माह तक निःशुल्क योग शिविरों का आयोजन किया।


जिसमें योग विज्ञान विभाग के 400 प्रशिक्षुओं द्वारा एक माह में 12,000 शिविरों का आयोजन किया गया इस प्रकार आओ हम सब योग करें अभियान से लगभग सात लाख लोगों को जोड़ा गया। उन्होंने कार्यक्रम का विस्तृत विवरण प्रस्तुत किया। इसके पश्चात योग विज्ञान विभाग की प्रशिक्षु सोनिया बिष्ट ने सभी को आयुष मंत्रालय द्वारा जारी सामान्य योग अभ्यासक्रम का अभ्यास कराया।
कार्यक्रम के संयोजक डॉ लल्लन सिंह ने बताया कि अंतराष्ट्रीय योग दिवस में योग विज्ञान विभाग, सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय के सभी अधिकारी, शिक्षकों, कर्मियों और विद्यार्थियों के साथ विभिन्न विद्यालयों के सहयोगियों का सहयोग मिला।
इस अवसर पर मुख्य अतिथि रूप में पूर्व कुलपति प्रो जगत सिंह बिष्ट ने योग विज्ञान विभाग द्वारा आयोजित अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की सभी को शुभकामनाएं दी। उन्होंने योग के संबंध में कहा योग का शाब्दिक अर्थ है-जोड़ना। योग चित्त प्रवृतियों का निरोध करता है। यह आपस में जोड़ता है। हमें मानव बनाता है। उन्होंने यम, नियम, ध्यान, आसन, धारणा, प्रत्याहार, प्राणायाम आदि को स्पष्ट किया। योग के प्राचीन इतिहास को प्रस्तुत करते हुए कहा कि योग विद्या भारत की प्राचीन विद्या है। आज के भौकितवादी युग में योग की महती आवश्यकता है। योग भौतिक एवं आध्यात्मिक दृष्टि से महत्वपूर्ण है।
विशिष्ट अतिथि एनसीसी 77 बटालियन कमान अधिकारी कर्नल जितेंद्र शर्मा ने योग को जनजन तक पहुंचाने की अपील की। एनसीसी 24 बटालियन की एएनओ लेफ्टिनेंट डॉ ममता पंत ने योग को जीवन में उतारने के लिए शपथ दिलाई।
कार्यक्रम अध्यक्ष प्रो. प्रवीण सिंह बिष्ट ने कहा कि योग के कार्यक्रम देशभर में हो रहे हैं। योग हमारे जीवन को अनुशासित करता है। योग हमें जीवन जीना सिखाता है। उन्होंने योग विज्ञान विभाग को आयोजन कर लिए बधाई दी।
योग विभाग के गिरीश अधिकारी ने कार्यक्रम का प्रबंधन कर धन्यवाद ज्ञापित किया। इस अवसर पर योग विज्ञान विभाग के हेमा अवस्थी, पूर्व योग समन्वयक प्रो0 देव सिंह पोखरिया, प्रो0 बीडीएस नेगी, डॉ0 कविता सिजवाली ,डॉ0 योगेश मैनाली, डॉ. विमल कांडपाल, सूबेदार उमेश चन्द्र, सूबेदार जितेंद्र,सहायक लेखाधिकारी रंजीत सिंह, इंस्पेक्टर भुपाल सिंह, इंस्पेक्टर आर एल मेघवंशी, राजेश बिष्ट, शारदा पब्लिक स्कूल की प्रधानाचार्या विनीता लखचौरा, तव एकेडमी की प्रधानाचार्य श्रीमती स्वेता, राजकीय प्राथमिक विद्यालय खत्याड़ी ,ब्लैक पेंथर एकेडमी, जिला गंगा सुरक्षा समिति, नेहरू युवा केन्द्र, ज़िला विधिक सहायता केंद्र सहित कई विद्यालयों के स्टाफ, छात्र एवं अल्मोड़ा के गणमान्य नागरिक, योग विभाग के छात्र-छात्राएं शामिल हुए।