Demand – Almora gets heritage city status

heritage city

अल्मोड़ा, 24 नवंबर 2020- धर्म निरपेक्ष युवा मंच की बैठक में ऐतिहासिक कालखंडो की गवाह सांस्कृतिक नगरी अल्मोड़ा को हैरिटेज सिटी (heritage city)का दर्जा दिए जाने की मांग उठाई है|

पिथौरागढ़— नदी पुनर्जीवन परियोजना (River Rejuvenation Project) महत्वपूर्ण कार्य: डॉ सिन्हा

बैठक में मंच के संयोजक विनय किरौला ने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा पौड़ी को हैरिटेज सिटी (heritage city)के रूप में विकसित करने की घोषणा की गई है।

ऐतिहासिक,सांस्कृतिक रूप से देखा जाए तो अल्मोड़ा भी सालों तक चंद राजाओं की राजधानी रहा है साथ ही अपनी उच्च सांस्कृतिक व विशाल ऐतिहासिक विरासत को संभाले हुए अल्मोड़ा को भी राज्य सरकार द्वारा हैरिटेज सिटी (heritage city)के रूप में घोषित करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि अल्मोड़ा हर लिहाज से हैरिटेज सिटी के रूप में विकसित होने की योग्यता रखता है|

ऐतिहासिक कटारमल के सूर्य मंदिर से लेकर विश्व प्रसिद्ध न्याय के देवता चितई मंदिर ,नन्दादेवी मंदिर एवं विभिन्न मंदिर समूहों से घिरा अल्मोड़ा शहर जिसे बनारस की तर्ज पर मंदिर के शहर के रूप में विकसित करने की मांग समय-समय पर मंच द्वारा की गई है।

बैठक में तय किया गया कि इस मांग को लेकर जल्द ही जिलाधिकारी अल्मोड़ा के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन दिया जाएगा|

बैठक में मंच संयोजक विनय किरौला,पवन मुस्यूनी,मयंक पंत,अमित चौधरी,सूरज टम्टा, निरंजन पांडेय,भीम रावत,अशोक भंडारी,महेश कुमार,किरन नेगी,प्रभा जलाल,कमलेश सनवाल,जीवन मेहरा,तेज कनवाल,सूंदर लटवाल,राजेन्द्र लटवाल,बिशन लटवाल इत्यादि लोग मौजूद थे।

अपडेट खबरों के लिए हमारे youtube चैनल को सब्सक्राइब करें