News-web

जिसका था डर हुआ वही, नीतीश कुमार और चंद्र कुमार नायडू ने इन मंत्रालयों की कर दी मांग

बीजेपी को इस बार 240 सीटें ही मिली हैं, जबकि बहुमत 272 पर होता है. नीतीश कुमार एनडीए के सहयोगी दल जेडीयू के नेता हैं. उन्होंने बिहार में 12 सीटों पर जीत हासिल की है। हालांकि उन्होंने अपना समर्थन पीएम मोदी को दिया है। लेकिन खबरें हैं कि नीतीश कुमार ने 3 मंत्रालय की मांग रखी है।

नीतीश कुमार ने अपनी प्रमुख मांगो में कहा है कि बिहार को विशेष राज्य का दर्जा दिया जाए, 12 सांसदों के हिसाब से 3 मंत्रालय मांगे हैं। नीतीश कुमार रेल, कृषि और वित्त मंत्रालय चाहते हैं। रेल मंत्रालय प्राथमिकता में है। यह फॉर्मुला उन्होंने 4 सांसदों पर एक मत्रालय के रूप में रखा है। इसके साथ ही इंडिया गठबंधन भी नीतीश कुमार को लुभाने की कोशिश में लगा हैं। खबर ये भी थी कि शरद पवार ने उनसे फोन पर बात भी करी है लालू यादव से उनकी बातचीत की जानकारी भी सामने आई थी वहीं, सम्राट चौधरी भी उनसे मिलने पहुंचे थे।

बिहार में नीतीश कुमार ने 16 और बीजेपी ने 17 सीटों पर चुनाव लड़ा था। नीतीश की जेडीयू और बीजेपी ने एक बराबर 12-12 सीटों पर जीत हासिल की है। बीजेपी ने लोकसभा चुनाव में 240 सीटें जीती हैं, इस लिहाज से वह बहुमत से दूर है। ऐसे में एनडीए को 12 सीटें नीतीश कुमार और 16 सीटें चंद्रबाबू नायडू की काफी अहम हैं। सरकार बनाने के लिए दोनों नेताओं की एनडीए को जरूरत होगी।इसलिए बीजेपी को दोनों पर काफी ध्यान देना होगा. दोनों सहयोगियों को नाराज करना सही नहीं होगा. सूत्रों के हवाले से नीतीश कुमार की मांग सामने आई है. वह मोदी 3.0 सरकार में 3 मंत्रालय चाहते हैं.

वहीं, तेलुगू देशम पार्टी (TDP) के प्रमुख चंद्रबाबू नायडू ने भी बुधवार को दिल्ली में एनडीए की बैठक में प्रतिभाहिया एनडीए में टीडीपी 16 सांसदों के साथ दूसरी सबसे बड़ी पार्टी है। नायडू ने भाजपा के शीर्ष नेतृत्व को एक सूची सौंपी है। इनमें लोकसभा अध्यक्ष का पद और क्षेत्रीय पार्टी के लिए कम से कम 5 विभाग शामिल मांगे हैं।