shishu-mandir

वायरल वीडियो- कौन है ये लोग, कहां से आते है ? पुलिस कुछ क्यों नही करती

Newsdesk Uttranews
3 Min Read
Screenshot-5

फीस बढ़ाए जाने के खिलाफ देहरादून के श्री गुरु राम राय मेडिकल कॉलेज के एमबीबीएस छात्रों के धरने को कुछ असामाजिक तत्वों ने बाधित कर दिया। बताया जा रहा है इस झुंड में कुछ महिलाएं भी थी। छात्रों के साथ धक्का मुक्की का एक वीडियो भी वायरल हो रहा है।वीडियो में दिख रहा है कि लोगों का एक झुंड जिसमें महिलाएं भी शामिल है,वह छात्रों के साथ धक्का मुक्की कर रहे है। इस मामले में पुलिस की कोई कार्रवाही ना करना भी सवालों के घेरे में है।

new-modern
holy-ange-school

घटना शाम की बताई जा रही है। वायरल वीडियो में एक बच्ची की आवाज सुनाई दे रही है जो कि कह रही है कि गुण्डे भेजे जा रहे है और लड़कियों को मारा जा रहा है। बताया जा रहा है कि यह धरना शांतिपूर्ण ढंग से चल रहा था कि तभी कुछ असामाजिक तत्व वहां आ गए,इनमें कुछ महिलाएं भी शामिल थी। इन लोगों ने छात्रों के साथ झड़प करना शुरू कर दिया। छात्रों का आरोप है कि इन लोगों ने छात्रों से धरना स्थल से उठने को कहा और उनके टेंट को भी फाड़ दिया गया मामले को बढ़ता हुआ देख पुलिस ने बीच बचाव किया।तब जाकर स्थिति कुछ संभली।

gyan-vigyan


क्या है मामला
उत्तराखण्ड सरकार ने पिछली बार कैबिनेट बैठक में निजी मेडिकल कॉलेजों को स्टेट कोटे की सीटों पर फीस तय करने का अधिकार दे दिया था। राज्य में देहरादून में हिमालयन मेडिकल कॉलेज, एसजीआरआर मेडिकल कॉलेज और सुभारती मेडिकल कॉलेज प्रशासन को फीस तय करने का अधिकार मिल जाने के बाद से इन प्राइवेट मेडिकल कॉलेजों में पांच गुना तक फीस बढ़ोतरी कर दी गयी थी और इसके खिलाफ श्री गुरु राम राय मेडिकल कॉलेज के एमबीबीएस के छात्र धरना दे रहे थे। एसजीआरआर मेडिकल कॉलेज प्रशासन ने 1 मार्च 2023 को नोटिस के माध्यम से राज्य और प्रबंधन कोटे के पांचवें वर्ष के छात्रों की फीस में बढ़ोतरी किए जाने की सूचना दी और कहा कि जो छात्र पहले ही अपनी फीस जमा कर चुके हैं उन्हें संशोधित फीस के साथ 1 वर्ष की फीस का भुगतान करना होगा। इसके बाद गुस्साए छात्र धरने पर थे।


गुरूवार को भी धरना चल ही रहा था कि कुछ लोगों ने जबरन छात्रों को धरना स्थल से हटने को कहा। इसके बाद छात्रों और इन लोगों के बीच काफी गरमागरमी हुई। छात्रों का आरोप है कि माहौल बिगड़ता देखने के बाद भी पुलिस ने कोई एक्शन नहीं लिया गया। मीडिया रिपोर्टस के अनुसार देहरादून एसएसपी दिलीप सिंह कुंवर ने बताया कि छात्रों की ओर कोई भी तहरीर नहीं दी गई जिस कारण कोई भी मुकदमा दर्ज नहीं किया जा सका। इस बीच कॉलेज प्रबंधन से बातचीत के बाद छात्रों ने फिलहाल अपना धरना स्थगित कर दिया है।