उत्तरा न्यूज
अभी अभी

School bus fees: स्कूल बसों की ट्रांसपोर्टेशन फीस में हुई 5% की बढ़ोतरी, निजी स्कूलों ने लिया फैसला

अगर आपके भी बच्चे बसों से स्कूल जाते हैं तो यह आपके काम की खबर है। बता दें कि इसके बाद प्राइवेट स्कूलों में bus service भी महंगी होने जा रही है। जहां एक तरफ अभिभावकों को यह स्कूलों की मनमानी लग रही है तो वहीं दूसरी तरफ स्कूलों को इसके पीछे Diesel-Petrol और तमाम समस्याओं के कारण नजर आ रहे हैं। इन सबके बीच स्कूलों ने transportation fees 15% से बढ़ाकर 20% कर दिया है।

Bus service के लिए अब आपको पहले के मुकाबले 25 से 30 रुपए per kilometre एक्स्ट्रा देने होंगे। गौरतलब है कि कोरोना काल में सब कुछ बंद हो गया था और स्कूलों को भी खासा नुकसान हुआ था। अब जब स्थिति सामान्य हो रही है तो petrol-diesel के दाम आसमान छू रहे हैं। इसके साथ ही fitness और maintenance fees में भी वृद्धि हो गई

हर पहलू को जानने, जांचने और परखने के बाद अब स्कूल बसों और अन्य वाहनों के किराए minimum 250 रुपये से बढ़ाकर 500 रुपये तक की गई है। स्कूल प्रबंधकों ने ना सिर्फ petrol-diesel और fitness-maintenance बल्कि टायरों के बढ़े दामों का भी जिक्र किया है। उनका कहना है कि बसों को प्रतिदिन सड़कों पर खूब दौड़ना पड़ता है। इसलिए समय पर टायर बदलना भी जरूरी हो जाता है।

उल्लेखनीय है कि मौजूदा वक्त में कुछ नहीं तो करीब करीब 1500 वाहन हर दिन सड़कों पर दौड़ते हैं। Haldwani public school association के सचिव दिवस शर्मा ने जानकारी दी और बताया कि petrol-diesel के दामों में 10 रुपए की बढ़ोतरी की गई है। साथ ही maintenance का खर्च भी बढ़ा है। ऐसे में बसों के driver, conductor की salary निकालने में दिक्कत हो रही थी। इसलिए बसों के किराए को बढ़ाना एक मजबूरी हो गई थी।

स्कूल के वाहनों का प्रति माह का किराया

दूरी – किराया पूर्व में – अब का किराया

0 से 5 km – 1200 रुपए – 1400 रुपए
5 से 10 km – 1500 रुपए – 1750 रुपए
10 से 15 km – 1800 रुपए – 2100 रुपए
15 से 20 km – 2500 रुपए – 2800 रुपए
20 km से ऊपर – 3000 रुपए – 3500 रुपए

Related posts

वैलडन : बाढ़ पीड़ितो की मदद के लिये हल्द्वानी में कार्यक्रम आज 28 अगस्त की शाम को होगा कार्यक्रम

Newsdesk Uttranews

तेंदुए के हमले से बच निकला कर्नाटक का किसान

Newsdesk Uttranews

समस्या- कूडेदान फैला रहे हैं दुर्गंध, पर्यावरण और हो रहा दूषित

Newsdesk Uttranews