उत्तरा न्यूज
अभी अभी उत्तराखंड

कोरोना वैक्सीन की दोनो डोज ले चुकी महिला को कोरोना से मौत, 1 हफ्ते में ये दूसरी मौत , जानिए कहां की है खबर

28 people turned corona positive in Ramnagar within two days

खबरें अब whatsapp पर
Join Now

कई लोग यह मानकर चल रहे हैं कि अगर उनके द्वारा कोरोनावायरस वैक्सीन लगा ली गई है तो उन्हें अब कोरोना अपना शिकार नहीं बना सकता। लेकिन यह सरासर गलत है और इसका उदाहरण मध्यप्रदेश में देखने को मिला है। इस मामले से यह भी समझ में आता है कि हमें वैक्सीन लेने के बाद भी कोरोना संबंधी नियमों का पालन करना जरूरी है।

nitin communication

कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज ले चुकी महिला की मौत
मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से एक ऐसी खबर सामने आई है जो परेशान करने वाली है,दरसल मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में 54 वर्षीय महिला की कोरोना रोधी टीके की दोनों खुराक लेने के बावजूद भी कोविड-19 से मौत हो गई। आपको बता दें कि अधिकारियों के द्वारा बताया गया है कि मध्य प्रदेश में एक सप्ताह के भीतर यह दूसरा मामला सामने आया है, जब पूरा टीकाकरण करवाने के बाद भी किसी की कोविड-19 से मृत्यु हो गयी। भोपाल के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) डॉ प्रभाकर तिवारी ने ‘पीटीआई-भाषा’ से शनिवार को कहा कि यहां अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में संक्रमण के कारण एक महिला की मौत हुई है। सुचना मिली है कि महिला कोविड-19 रोधी टीके की दोनों खुराक लगवा चुकी थी।

udiyar restaurent
govt ad

मरने वाली महिला के एक संबंधी और भोपाल के एक प्रसिद्ध डॉक्टर द्वारा बताया गया कि रोगी को 15 नवंबर को कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि होने के बाद एम्स, भोपाल में भर्ती कराया गया था। उन्होंने सुचना दी है की, ‘‘महिला की उम्र 54 साल थी और गुरुवार-शुक्रवार की दरमियानी रात करीबन 12.30 बजे एम्स भोपाल में उनकी मौत हो गई। हालाँकि वह पूरी तरह से स्वस्थ थीं और उन्हें  कोई बीमारी भी नहीं थी। उन्हें सिर्फ  रक्तचाप की हल्की सी प्रॉब्लम थी जो कि सामान्य है।’’

सबसे बड़ी बात यह है की मरने वाली महिला का पति मध्य प्रदेश सरकार में डॉक्टर हैं और इससे पहले भी यानि रविवार रात को प्रदेश के इंदौर शहर में 69 वर्षीय व्यक्ति की मौत कोविड-19 से हुई थी। हालाँकि वो भी पूरा टीकाकरण करवा चुके थे। दरहसल, मध्य प्रदेश में शुक्रवार शाम तक 7,92,999 कोरोना वायरस संक्रमित मिल चुके है और अभी तक इनमें से 10,525 लोगो की मृत्यु हो चुकी है।

Related posts

सहयोग व विकास के नाम रही दन्या संकुल की कार्यशाला

उत्तराखंड: ग्रामीणों ने प्रवासियों(Migrant) व पुलिसकर्मियों पर किया पथराव, आखिर क्या थी वजह, जानने के लिए पढ़ें पूरी खबर

UTTRA NEWS DESK

Bageshwar- जिला निगरानी समिति की बैठक में इन मुद्दों पर हुई चर्चा

उत्तरा न्यूज डेस्क