News-web

जबलपुर में अपने पिता और भाई की हत्या करने वाली लड़की के बॉयफ्रेंड ने किया पुलिस के सामने आत्म समर्पण

Updated on:

अपने बॉयफ्रेंड के साथ मिलकर पिता और भाई की हत्या करने वाली लड़की के मित्र ने देर रात पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया। बताया जा रहा है की वारदात के मास्टरमाइंड मुकुल सिंह नामक युवक ने रात करीब 11:45 बजे सिविल लाइन पुलिस थाने में खुद को पुलिस के हवाले कर दिया। उत्तराखंड की हरिद्वार पुलिस ने एक दिन पहले ही नाबालिग लड़की को पकड़ लिया था। इस दौरान मुकुल भागने में सफल हुआ था।

कहा जा रहा है कि मुकुल सिंह अपने चेहरे पर कपड़ा बांधकर पुलिस थाने पहुंचा उसने सिविल लाइन पुलिस थाना पहुंचकर अपना नाम बताया। उसने पुलिस थाने में कहा मैं मुकुल सिंह हूं। उसे देखकर पुलिसकर्मी भी हैरत में पड़ गए।

प्रारंभिक जानकारी के अनुसार मुकुल ने रेलवे कर्मचारी राजकुमार विश्वकर्मा और तनिष्क की हत्या में अपनी भागीदारी स्वीकार कर ली है। उसने बताया कि उसी ने 15 मार्च को राजकुमार और तनिष्क की हत्या की थी। इसके बाद वरिष्ठ अधिकारियों को उसके आत्मसमर्पण की सूचना दी गई।

बताया जा रहा है कि शहर की सिविल लाइन स्थित कालोनी में हुए इस दोहरे हत्याकांड के दोनों आरोपी उत्तराखंड के हरिद्वार में घूमते हुए मिले थे। इसके बाद उत्तराखंड पुलिस ने नाबालिग लड़की को हिरासत में ले लिया जबकि आरोपी मुकुल सिंह पुलिस को चकमा देकर भाग गया था। उत्तराखंड पुलिस की सूचना पर जबलपुर पुलिस नाबालिग लड़की को लेने हरिद्वार पूछी पहुंची थी जहां नाबालिग लड़की से पूछताछ की गई थी।

बताया जाता है कि मुकुल और नाबालिग बस से हरिद्वार पहुंचे थे। जब वे कोतवाली थाना अंतर्गत अस्पताल के पास चाय की दुकान के पास बैठे थे। तब पुलिस को मुकुल के संबंध में जानकारी मिली। जबलपुर पुलिस ने इस संबंध में उत्तराखंड पुलिस से संपर्क किया। स्थानीय पुलिस जांच करने मौके पर पहुंची तो मुकुल भाग खड़ा हुआ था जबकि नाबालिग भाग नहीं पाई और पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया था।उल्लेखनीय है कि पिता और भाई की हत्या के बाद नाबालिग बेटी ने भोपाल में अपनी चचेरी बहन को किए 4 सेकंड के वॉइस मैसेज में बताया था कि पड़ोसी मुकुल ने पापा और भाई को मौत के घाट उतार दिया है।