कुमाऊं विश्वविद्यालय नैनीताल में कार्यरत संविदा तथा अतिथि प्राध्यापको के वेतनमान वृद्धि के लिए ज्ञापन प्रेषित

editor1
2 Min Read
fire broke out

नैनीताल। कुमाऊँ विश्वविद्यालय, शिक्षक संघ नैनीताल (कूटा) ने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, केंद्रीय मंत्री,भारत सरकार अजय भट्ट तथा उच्च शिक्षा मंत्री उत्तराखंड सरकार डॉ0 धन सिंह रावत को विश्वविद्यालय में कार्यरत संविदा तथा अतिथि प्राध्यापको के वेतन के समाधान के लिए ज्ञापन प्रेषित किया है। कूटा ने बताया कि कुमाऊँ विश्वविद्यालय,नैनीताल तथा उच्च शिक्षा उत्तराखंड में वर्षों से प्राध्यापक संविदा पर कार्यरत है तथा अपना महत्वपूर्ण समय विश्वविद्यालय की सेवा मेें व्यतीत किया है। ऐसे संविदा शिक्षकों को विनियमित अथवा तदर्थ नियुक्ति प्रदान की जाए।

बताया गया कि उत्तराखंड उच्च शिक्षा में कार्यरत संविदा/अतिथि व्याख्याताओं को 35,000/25,000 रूपये प्रतिमाह वेतन के रूप में भुगतान किया जा रहा है। वर्तमान परिस्थितियों को देखतें हुए यह वेतन बहुत कम है जबकि हरियाणा के कुरूक्षेत्र विश्वविद्यालय द्वारा संविदा/अतिथि प्राध्यापकों का वेतन 57700/ प्रतिमाह किया गया है। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने इनका वेतन न्यूनतम 50,000/ प्रतिमाह नियत किया है। अतः इन संविदा/ अतिथि व्याख्याताओं का वेतन 57700/ प्रतिमाह करने सम्बन्धी आदेश निर्गत करने की कृपा करेगें। कूटा ने कैबिनेट में उक्त प्रकरण का समाधान करने का आग्रह किया है।

इसके साथ ही कूटा ने पुरानी पेंशन प्रणाली का समर्थन करते इससे लागू करने तथा कुमाऊं विश्वविद्यालय का एक और परिसर बनाने की मांग भी की है। कूटा की तरफ से प्रो.ललित तिवारी अध्यक्ष, डॉ.नीलू लोधियाल उपाध्यक्ष, डॉ.विजय कुमार महासचिव , डॉ.संतोष कुमार उपसचिव , डॉ.दीपिका गोस्वामी , डॉ.सीमा चौहान, डॉ.दीपक कुमार, डॉ.दीपाक्षी जोशी, डॉ.उमंग सैनी, डॉ.अनिल बिष्ट इत्यादि ने ज्ञापन भेजा है।

Sticky AdSense Example

Sticky AdSense Example

Content goes here. Scroll down to see the sticky ad in action.

More content...