logo
news logo

Petro-products price hike – Congress gave memorandum and NSUI burnt effigy of center

price hike

अल्मोड़ा— 29 जून 2020— पेट्रो पदार्थों की मूल्य वृद्धि(price hike) के चलते सोमवार को कांग्रेस और उसके अनुसांगिक छात्र संगठन ने केन्द्र सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया.

कांग्रेस ने जहां प्रशासन के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजा वहीं एनएसयूआई ने चौघानपाटा में केन्द्र सरकार का पुतला फूंका. भारतीय कांग्रेस समिति के निर्देशों के अनुसार.इससे देश की मेहनतकश जनता काफी पीड़ित महसूस कर रही है.

price hike

उन्होंने कहा कि सरकार डीजल पर 26 और पेट्रोल पर 21 रुपये के करीब उत्पाद शुल्क लगा चुकी है जिस कारण ईधन के दाम 80 रुपये पहुंच गए हैं.

कहा कि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दामों में गिरावट के बावजूद तेल के दाम लगातार बढ़ाए गए और इससे जनता त्रस्त हो गई है लेकिन सरकार एक प्रकार से ईधन से वसूली का रास्ता अख्तियार कर रही है.

इस अवसर पर जिलाध्यक्ष पीतांबर पांडे, पूर्व विधायक मनोज तिवारी,नगर अध्यक्ष पूरन रौतेला,राजीव कर्नाटक, महेश चन्द्र, राधा बिष्ट, गीता महरा, लता तिवारी,वैभव पांडे सहित अनेक कार्यकर्ता मौजूद थे.

इधर एनएसयूआई ने भी राष्ट्रीय नेतृत्व के आह्वान पर पेट्रोल डीजल की मूल्य वृद्धि(price hike) के खिलाफ़ अल्मोड़ा चौघानपाटा में बीजेपी सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और मोदी सरकार का पुतला दहन किया तथा जिलाधिकारी कार्यालय के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन भी भेजा.

एनएसयूआई के प्रदेश महासचिव गोपाल भट्ट ने कहा डबल इंजन की सरकार जबसे आई है लगातार पेट्रोल डीजल के उत्पाद शुल्क कीमतों में अनुचित लगातार बढ़ोतरी करते आयी हैं, जिससे आम गरीब मजदूर लोग परेशान आवश्यकता पड़ने पर हजारों एनएसयूआई कार्यकर्ता पूरे देश में बढ़ती महंगाई व बेरोजगारी शिक्षा निजीकरण आदि मुद्दे को लेकर सड़को में उतरेंगे.


प्रदर्शन के दौरान प्रदेश महासचिव गोपाल भट्ट, पूर्व जिला अध्यक्ष प्रदीप बिष्ट, विपुल कार्की, राहुल खोलिया ,आकाश जंगपांगी, बाल विक्रम सिंह,नवल बिष्ट, लोकश तिवारी दीपक सिरदी राहुल सिंह ,आशीष पंत, रक्षित साह आदि कार्यकर्ता मौजूद थे.

ताजा अपडेट के लिए हमारे यूट्यूब चैनल के इस लिंक को क्लिक करें

https://www.youtube.com/channel/UCq1fYiAdV-MIt14t_l1gBIw