shishu-mandir

कैंची मेले को लेकर तैयारियां जोरों पर, 15 जून को इस तरह पहुंच पाएंगे कैंची धाम

Newsdesk Uttranews
3 Min Read
Screenshot-5

नैनीताल। 15 जून को कैंची मेले को लेकर मन्दिर प्रशासन पुलिस व प्रशासन ने कर कस ली है,जिसके लिए यातायात प्लान भी पूरी तरह से तैयार है। कैंची धाम आने वाले भक्त भवाली से शटल सेवा के माध्यम से कैंची पहुचेंगे। शटल सेवा का टिकट भी निर्धारित कर दिया गया है। वही जिला प्रशासन ने लोगो से कैंची मेले के सफल बनाने की लोगों से अपील की है।

new-modern
gyan-vigyan


एसपी क्राइम यातायात जगदीश चन्द्र ने बताया कि कैंची धाम आने वाले श्रद्धालु भवाली से शटल सेवा के माध्यम से आएंगे। निजी वाहन लाने की अनुमति किसी को भी नही है,वही सड़क किनारे जलपान व भंडारा किसी के भी द्वारा बिना अनुमति के नही लगाया जाएगा।

saraswati-bal-vidya-niketan


यह है यातायात प्लान
हल्द्वानी से अल्मोड़ा जाने वाले यात्री वाहन 14 जून को खुटानी मोड़ पदमपुरी पोखराड़- कश्यालेख-शीतला मोना- ल्वेशाल एवं क्वारब होते हुए रवाना होंगे।
नैनीताल से अल्मोड़ा-पिथौरागढ़ को जाने वाले वाहन भवाली रामगढ़ तिराहे से होते हुए मल्ला रामगढ़, नथुवाखान, क्वारब से भेजे जाएंगे।


एसपी क्राइम यातायात जगदीश चंद्रा ने सोमवार को बताया कि अल्मोड़ा-पिथौरागढ़ से आने वाले वाहन 14 जून को अपराह्न दो बजे से क्वारब पुल से मोना ल्वेशाल- शीतला- पदमपुरी होते हुए खुटानी बैंड से भीमताल की ओर प्रस्थान करेंगे।
रानीखेत की ओर से आने वाले वाहन क्वारब होते हुए, ल्वेशाल-मोना-पदमपुरी से खुटानी बैंड से भीमताल की ओर प्रस्थान करेंगे।


भीमताल की ओर से आने वाले वाहन नैनी बैंड-मस्जिद तिराहा-बाईपास पर पार्क कराए जाएंगे। नैनी बैंड से श्रद्धालुओं को शटल से कैंचीधाम के लिए भेजा जाएगा।
वही नैनीताल की ओर से कैंचीधाम आने वाले चार पहिया वाहनों को सेनिटोरियम-रातीघाट रोड पर पार्क कराया जाएगा।


यात्रियों को सेनिटोरियम बैरियर से शटल सेवा से कैंची धाम भेजा जाएगा। खैरना की ओर से आने वाले दर्शनार्थियों के वाहनों को खैरना पेट्रोल पंप के आगे पार्क कराया जाएगा। वहां से शटल सेवा के माध्यम से पनीराम ढाबे तक लाया व ले जाया जाएगा। भीमताल-नैनीताल की ओर से कैंची जाने वाले दुपहिया वाहन भवाली में रामलीला परिसर एवं पेट्रोल पंप के पास पार्क कराया जाएगा। वहां से श्रद्धालुओं को शटल से कैंची धाम ले जाया जाएगा।
इस दौरान जितनी भी शटल गाड़ियां भवाली क्षेत्र में आएंगी वह वन विभाग बैरियर तक ही जाएंगी। वहां से श्रद्धालु कैंची मंदिर तक पैदल ही जाएंगे। काठगोदाम से भवाली (नैनी बैंड) मार्ग वन-वे रहेगा। इस मार्ग पर गाड़ियां भवाली (नैनी बैंड) तक जाएंगी। वापसी के लिए वाहन मस्जिद तिराहा भवाली से बैंड नंबर एक को जाएंगे।