pithoragarh

pithoragarh- डॉ दीपक उप्रेती के निधन पर पत्रकार बिरादरी, सामाजिक, राजनीतिक संगठनों, बुद्धिजीवियों समेत आम लोगों में शोक की लहर


पिथौरागढ़ (pithoragarh)। कोरोना महामारी जिले में तेजी से पैर पसार रही है और अब तक कई लोग इसकी चपेट में आकर जान गंवा चुके हैं। कोरोना के चलते शनिवार सुबह वरिष्ठ पत्रकार डॉ. दीपक उप्रेती का भी निधन हो गया। लगभग 62 वर्षीय दीपक उप्रेती चार दिन पहले कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे और उन्हें जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया था। उनके निधन से पत्रकारों, साहित्यकारों, सामाजिक-राजनीतिक कार्यकर्ताओं, संगठनों व जनप्रतिनिधियों समेत आम नागरिकों में गहरा शोक व्याप्त है।


जानकारी के अनुसार खांसी और सीने में कुछ तकलीफ के बीच दीपक उप्रेती का चार दिन पूर्व कोरोना टेस्ट किया गया था जिसमें वह पॉजिटिव पाए गए। इसके बाद उनको जिला अस्पताल में भर्ती कर दिया गया।

पिथौरागढ़ (pithoragarh) मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. एचसी पंत ने बताया कि उनका शुक्रवार को उनका आक्सीजन लेबल 91-92 के आसपास चल रहा था, जिसके और गिरने की आशंका बनी हुई थी। ऐसे में उनको बेहतर उपचार के लिए शुक्रवार को ही हल्द्वानी रेफर किया जा रहा था, लेकिन डॉ. उप्रेती ने हल्द्वानी जाने से मना कर दिया। जिला अस्पताल में ही शनिवार सुबह करीब साढ़े 8.30 बजे एकाएक उनका निधन हो गया।

सीएमओ डॉ पंत के अनुसार कोरोना संक्रमण की वजह से उनको किस तरह की परेशानी पैदा हुई, जिसके उनका निधन हो गया, यह जानकारी संबंधित डॉक्टर द्वारा डेथ ऑडिट करने के बाद ही सामने आएगी।

उत्तराखण्ड से बड़ी खबर- महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री रेखा आर्या (rekha arya) भी कोरोना की चपेट में


वरिष्ठ पत्रकार डॉ. दीपक उप्रेती के कोरोना संक्रमित होने की जानकारी बहुत कम लोगां को थी, और शनिवार सुबह निधन की खबर जैसे-जैसे जिले में लोगों को मिली सभी स्तब्ध रह गए। डॉ. दीपक उप्रेती ने दैनिक उत्तर उजाला से अपने पत्रकारिता कैरियर की शुरूआत की थी। उन्होंने कुछ साप्ताहिक अखबारों में भी काम किया।(pithoragarh)

Road Accident: पेड़ से टकराई कार, 2 लोगों की मौत 3 घायल

बाद में उन्होंने दैनिक अमर उजाला ज्वाइन किया और उसमें लंबा अरसा बिताया। वे लंबे वक्त तक अमर उजाला के पिथौरागढ़ (pithoragarh) ब्यूरो प्रभारी रहे और पिछले एक डेढ़ वर्ष पूर्व यहीं काम करते हुए डॉ. उप्रेती सेवानिवृत हुए थे। मूल रूप से ग्राम विनायक, मुवानी तहसील डीडीहाट निवासी स्व. डॉ. दीपक उप्रेती के परिवार में पत्नी, एक पुत्र व पुत्री हैं।

उनका पुत्र पंतनगर विश्वविद्यालय में अध्ययन कर रहा है, और पुत्री भी फिलहाल अध्ययनरत है। उनके छोटे भाई हरीश उप्रेती प्रवक्ता हैं। डॉ. दीपक उप्रेती के असमय जाने से परिवार गहरे सदमे में हैं। मृदुल व शालीन व्यवहार के धनी डॉ. प्रेमती के निधन पर तमाम लोगों, संगठनों, राजनीतिक दलों से जुड़े लोगों और पत्रकार बिरादरी ने गहरा शोक व्यक्त किया है। शनिवार दोपहर तक उनका अंतिम संस्कार नहीं किया गया था।

कृपया हमारे youtube चैनल को सब्सक्राइब करें