ब्रेकिंग— पिंजरे में फंसा आतंक का पर्याय गुलदार
पिथौरागढ़। जिला मुख्यालय के नजदीक चंडाक क्षेत्र में आतंक का पर्याय बना एक गुलदार शनिवार शाम पिंजरे में कैद कर होने से लोगों ने राहत की सांस ली हैै।

पिथौरागढ़। जिला मुख्यालय के नजदीक Pithoragarh चंडाक क्षेत्र में आतंक का पर्याय बना एक गुलदार शनिवार शाम पिंजरे में कैद कर होने से लोगों ने राहत की सांस ली है। कुछ रोज पूर्व इसी क्षेत्र में इंसानों पर हमला कर रहे एक अन्य गुलदार को मेरठ से आये शिकारी सैयद अलीदीन हादी ने गोली मारकर मौत की नींद सुला दिया था।

पिछले एक पखवाड़े के भीतर बच्ची सहित दो को मार चुका है गुलदार

पिछले एक पखवाड़े के भीतर (Pithoragarh) चंडाक के ग्राम छाना और उसके दूसरे छोर पर स्थित सुकौली क्षेत्र में गुलदार ने 2 लोगों को मार डाला था और एक व्यक्ति को गंभीर रूप से घायल कर दिया था।


गुलदार द्वारा दो लोगों की जान लेने की घटनाओं के बाद क्षेत्रवासियों ने प्रदर्शन कर उसे आदमखोर घोषित करने की मांग की थी। इसी गुलदार ने दिनदहाड़े (Pithoragarh)
चंडाक क्षेत्र में ही एक व्यक्ति को गंभीर रूप से घायल कर दिया था। दबाव में आकर इसके बाद वन विभाग ने क्षेत्र में सक्रिय गुलदार को खतरनाक घोषित कर दिया था। इसके लिए मेरठ और नैनीताल से दो शिकारी नियुक्त किए गए। साथ ही क्षेत्र में पिंजरे भी लगा दिए गए।

Pithoragarh— पिंजरे में फंसा आतंक का पर्याय गुलदार 2

बीते 30 सितंबर की तड़के ग्राम सुकौली के पास पौण में शिकारी हादी ने एक गुलदार को ढेर कर दिया। वन विभाग के रेंज के रेंजर दिनेश जोशी के अनुसार 2 कैनाइन तथा कुछ नाखून नष्ट हो गए थे।

Pithoragarh- महंगाई के खिलाफ निकाला मशाल जुलूस

इस घटना के बाद लोगों ने कुछ राहत की सांस ली थी और साथ ही क्षेत्र में गुलदार के हमले भी बंद नजर आ रहे थे, लेकिन लोगों में खौफ अब भी बना हुआ था। क्योंकि क्षेत्र में एक से अधिक गुलदार के सक्रिय होने की बात सामने आई थी। इधर शनिवार देर शाम (Pithoragarh) चंडाक के ग्राम छाना पांडे क्षेत्र में लगाए गए पिंजरे में गुलदार फंस गया।

बताया जा रहा है कि पकड़े गए गुलदार को परीक्षण के बाद अल्मोड़ा रेस्क्यू केंद्र भेजा जाएगा। एक गुलदार के मारे जाने और दूसरे को पकड़ लिए जाने से चंडाक क्षेत्र के लोगों ने राहत की सांस ली है।

कृपया हमारे youtube चैनल को सब्सक्राइब करें

https://www.youtube.com/channel/UCq1fYiAdV-MIt14t_l1gBIw/