Pithoragarh

pithoragarh: Demand raised for investigation in the death of senior journalist Dr. Deepak Upreti

पिथौरागढ़, 15 दिसंबर 2020
पिथौरागढ़ (pithoragarh)
के वरिष्ठ पत्रकार डॉ. दीपक उप्रेती की मौत मामले को लेकर मंगलवार को पत्रकारों ने जिलाधिकारी से मुलाकात की। इस दौरान पत्रकारों ने जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंप स्व. उप्रेती की मौत मामले की निष्पक्ष जांच की मांग की है।

जिलाधिकारी को सौंपे गए ज्ञापन में कहा कि बीते 8 दिसंबर को डॉ. उप्रेती को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इसी दिन उनके कोरोना संक्रमित होने की खबर सामने आई थी और 12 दिसंबर की सुबह अस्पताल प्रबंधन ने उनके निधन होने की सूचना दी। कहा कि डॉ. उप्रेती (pithoragarh) ने 11 दिसंबर को कई लोगों से फोन के माध्यम से बातचीत की थी, जिसमें उन्होंने कुछ हद तक स्वास्थ्य लाभ की बात कही थी।

Almora— जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय में कार्यरत कर्मी कोरोना (Corona) पॉजिटिव, कार्यालय 2 दिन के लिए बंद

ज्ञापन के माध्यम से पत्रकारों ने जिलाधिकारी को यह भी अवगत कराया कि डॉ. उप्रेती के परिजनों ने भी यह माना है कि उनके इलाज में लापरवाही बरती गई थी। स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही व उदासीनता के चलते डॉ. उप्रेती की मौत हुई है।(pithoragarh)

ज्ञापन के माध्यम से पत्रकारों ने कहा कि अस्पताल में भर्ती कोरोना संक्रमित मरीजों के पास मेडिकल स्टाफ नहीं जा रहा है। रात के समय भी डॉक्टर अस्पताल में नहीं रहते हैं, जिससे मरीजों की जिंदगी खतरे में पड़ रही है। पत्रकारों ने डॉ. उप्रेती की मौत व लगातार सामने आ रही शिकायतों की निष्पक्ष जांच कराने की मांग की है।

वही, पत्रकारों ने एक ज्ञापन जिलाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री को भेजा है। जिसमें डॉ. दीपक उप्रेती के परिवार को 25 लाख रुपये की आर्थिक सहायता दिए जाने की मांग की है ताकि उनके परिवार को कुछ मदद मिल सके और बच्चें शिक्षा पूरी कर सकें।

अल्मोड़ा में कोरोना (corona) संक्रमण के 34 नये मामले, संख्या पहुंची 2837

ज्ञापन सौंपने वालों में वरिष्ठ पत्रकार विजयवर्द्धन उप्रेती, मयंक जोशी, राजेश पंगरिया, दीपक कापड़ी, अशोक पाठक, सुशील खत्री, राकेश पंत, दीपक गुप्ता, विपिन गुप्ता, पंकज पांडे, मुकेश सक्टा आदि शामिल थे।

कृपया हमारे youtube चैनल को सब्सक्राइब करें