उत्तरा न्यूज
अभी अभी पिथौरागढ़

Pithoragarh – लंदन फोर्ट में सातूं – आठूं पर्व पर आधारित नाटिका के जरिये कलाकारों ने कुमाऊंनी लोक संस्कृति के रंगों से कराया रूबरू

Pithoragarh - Artists introduced to the colors of Kumaoni folk culture through a play based on the festival of Satoon - Aatho in London Fort.

खबरें अब whatsapp पर
Join Now

पिथौरागढ़। कुमाऊंनी लोक पर्व सातूं-आठूं पर आधारित नृत्य नाटिका ‘गौरा-महेश्वर’ का विगत दिवस जिला मुख्यालय स्थित लंदन फोर्ट में शानदार मंचन किया गया। पिथौरागढ़ की सांस्कृतिक संस्था दर्पण कला मंच की इस प्रस्तुति में सातंू-आठूं पर्व के विभिन्न पहलुओं का मनमोहक रूप प्रस्तुत करने के साथ ही लोक गीत व नृत्य के रंगारंग कार्यक्रम पेश किये गए। बड़ी संख्या में आए दर्शकों ने कार्यक्रम की सराहना और आगे भी इस तरह के आयोजन किये जाने पर जोर दिया।

nitin communication


सर्वप्रथम दर्पण कला मंच की टीम ने शिव स्तुति के साथ आयोजन का शुभारंभ किया और मुख्य अतिथि कर्मचारी नेता और केएमवीएन पर्यटक आवास गृह के प्रबंधक दिनेश गुरुरानी ने दीप प्रज्ज्वलन कर नृत्य नाटिका गौरा-महेश्वर के मंचन की शुरूआत की, जिसमें सबसे पहले गौरा यानि गमरा की स्थापना की गई।

udiyar restaurent
govt ad

जिसके बाद डलिया में शिव और पार्वती की मूर्ति लेकर महिलाओं ने उनके साथ मनमोहक नृत्य किया। इस दौरान सातूं-आठूं पर्व में पर्व में की जानी वाली प्रक्रियाओं-बिरूड़ा धोना, फल फटकना, पंडित द्वारा पूजा अर्चना कराने जैसे प्रसंग भी कलाकारों ने अभिनीत किये। नाटिका के अंतिम हिस्से में चांचरी खेल का शानदार प्रस्तुतिकरण किया गया और फिर शिव स्तुति के साथ नृत्य नाटिका का समापन हुआ।

कार्यक्रम के अंत में कलाकारों ने कुमाऊंनी और गढ़वाली लोक गीत व नृत्य की रंगारंग प्रस्तुति से आयोजन में चार चांद लगा दिए, जिसकी भारी संख्या में उपस्थित दर्शकों ने भरपूर आनंद लिया। शिव वंदना लोक गायिका सीमा आगरी और गायक योगेश बोरा ने प्रस्तुत की।

आयोजक संस्था की टीम में निदेशक भूपेंद्र बिष्ट, कोरियोग्राफर कमला बिष्ट, लोक कलाकार शाहिल, विक्रम, पारस बिष्ट, नवनीत, रवि कुमार, विपिन कुमार, गायिका अनीता बिटालू, शीतल, नैना शामिल थे। वाद्य यंत्रों में रवि कुमार, बलवंत कुमार, रोहित कुमार और धीरज कुमार ने संगत दी। कार्यक्रम के अतिथि कत्थक नृतक हेमंत पांडे, संस्कृति कर्मी हेमराज बिष्ट, प्रबल पांडे, प्रकाश पांडे आदि गणमान्य लोग थे। संचालन विप्लव भट्ट ने किया।

Related posts

महाभारत की चौसर छोटी है 2019 के महासमर के सामने …

Newsdesk Uttranews

केसीडीएफ चुनावों में भाजपा का क्लीन स्वीप, भुपेन्द्र कांडपाल बने अध्यक्ष

उत्तरा न्यूज डेस्क

तो भौतिक सुख-सुविधाओं की लिलिप्सा के चलते बढ़ा पहाड़ से पलायन !

Newsdesk Uttranews