News-web

Almora-रानीधारा क्षेत्र की उपेक्षा पर फूटा लोगों का गुस्सा,दी पालिका चुनाव के बहिष्कार की चेतावनी,सौंपा ज्ञापन

Published on:

अल्मोड़ा के रानीधारा क्षेत्र की उपेक्षा का आरोप लगाते हुए लोगों ने आगामी पालिका चुनाव का बहिष्कार करने के साथ ही आंदोलन की चेतावनी दी है। आज रानीधारा नागरिक सेवा समिति के तत्वाधान में क्षेत्र की छः सूत्रीय माँगों का 25 जून तक धरातल में निर्माण कार्य शूरू ना होने पर पर नगर पालिका करों सहित बिजली एंव पानी के बिलों का भुगतान नहीं करने सहित नगर पालिका चुनाव का पूर्णतः बहिष्कार करने की बड़ी चेतावनी डे डाली। इस आशय का एक ज्ञापन विधायक मनोज तिवारी और डीएम विनीत तोमर को सौंपा गया। ज्ञापन में 150 से अधिक लोगों के हस्ताक्षर है।


ज्ञापन में दो वर्ष से सीवर लाइन एंव पेयजल लाईन के कारण क्षतिग्रस्त रानीधारा सड़क मार्ग को धार की तूनी से लेकर सांई बाबा कालॊनी तक शीघ्र जीर्णोद्धार करने की मांग की गई है साथ ही कहा गया है कि,
विगत वर्ष आपदा की मार झेल चुका ऐतिहासिक रानीधारा नौला हर दिन हजारों लोगों की प्यास बुझा रहा हैं और इस नालो को जीर्णोद्वार किया जाना जरूरी हो गया है।

ज्ञापन में उस नौले के संरक्षण और जीर्णोद्धार किए जाने,इसके पानी की शुद्धता की जाँच करने, रानीधारा नौले के ऊपर स्थित हीराडुँगरी क्षेत्र से हो रहे कटान,मलबा और पानी की निकासी के लिए नौले के बगल से आर सी सी नाले का अविलम्ब निर्माण करने,सिंचाई विभाग के अन्तर्गत रानीधारा क्षेत्र के बन्द पड़े दोनों नालों का शीघ्र निर्माण करने ,सीवर खुदाई के कारण घरों में घुस रहे पानी से घरों में बड़े पैमाने से आ रही सीलन को रोकने के लिए शीघ्र धरातलीय स्तर पर जाँच करके उचित एंव त्वरित उपाय करने , क्षतिग्रस्त रानीधारा सड़क मार्ग में सड़क मानकों की खुलेआम धज्जियाँ उड़ा रहे पिकअप वाहनों एंव सवारी वाहनों पर दुर्घटना की पुनरावृत्ति को रोकने के लिए अविलम्ब कार्यवाही करने की मांग की गई है।


ज्ञापन में दुग्ध संघ कार्यालय के सामने से रानीधारा सड़क तक सम्पर्क मार्ग का शीघ्र निर्माण करने, रानीधारा क्षेत्र में कटखने बन्दरों, लंगूरों के बढ़ते आंतक की दहशत को रोकने के लिए बन्दरों को पकड़ने का विशेष अभियान आरम्भ करने की मांग की गई है। विधायक मनोज तिवारी से क्षेत्रवासियों ने छः सूत्रीय माँगों के साथ-साथ रानीधारा सड़क मार्ग में चोरी की घटनाओं और महिलाओं – लड़कियों के साथ छेड़खानी ऒर उत्पीड़न को रोकने के लिए तीन स्थानों पर विधायक निधि से सीसीटीवी लगवाने की मांग भी की गई है।


समिति के महासचिव त्रिलोचन जोशी ने बताया कि अगर शासन-प्रशासन 25 जून तक रानीधारा क्षेत्र की क्षतिग्रस्त सड़क एंव अन्य महत्वपूर्ण माँगों पर कोई कार्यवाही नहीं करता हैं तो में मानवीय मूल्यों की रक्षा के लिए शासन-प्रशासन की उदासीनता के खिलाफ एक जनहित याचिका उच्च न्यायालय, नैनीताल में दायर करके त्वरित समाधान की अपील की जायेगी]साथ ही साथ अपने क्षेत्र के संवैधानिक अधिकारों के लिए वृहद जन आंदोलन की भी तॆयारी की जायेगी।


ज्ञापन देने वालों में में रानीधारा नागरिक समिति अध्यक्ष डा. अरूण पन्त, महासचिव त्रिलोचन जोशी, व्यवस्थापक नरेन्द्र दरम्वाल, कोषाध्यक्ष वीरेन्द्र बिष्ट, एड. कविन्द्र पन्त, कमला दरम्वाल, स्मिता जोशी, हरीश चन्द्र जोशी, राजन बिष्ट, मुकुल पन्त, दीपा जोशी, विमला मठपाल, भगवती डोगरा, जानकी बिष्ट, हंसा रावत, प्रतिमा देवी, उमा अल्मियाँ, विजय तिवारी, राँबिन भण्डारी, संदीप दरम्वाल, प्रदीप रावत, ज्ञान बुधॊडी़, हरीश जोशी, नवीन पाठक, हरीश चन्द्र जोशी सहित अनेक लोग शामिल रहे।