अडानी मामले पर केन्द्र सरकार को घेरने में जुटा विपक्ष

उत्तरा न्यूज टीम
2 Min Read

दिल्ली। दिल्ली में चल रहे संसद के बजट सत्र में विपक्ष एकजुट होकर सरकार को घेरेगा। हिडनबर्ग की अडानी समूह पर जारी रिपोर्ट को लेकर कांग्रेस की अगुवाई में विपक्षी दलों की गुरुवार को बैठक हुई। बैठक में कांग्रेस सहित 14 पार्टियों ने हिस्सा लिया तथा सभी ने एकजुटता जताते हुए संसद के दोनों सदनों में पूरी ताकत के साथ अडानी मसले को उठाने का फैसला लिया।

राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में डीएमके, टीएमसी, सपा, जद (यू), राजद, शिवसेना सीपीएम, सीपीआई, एनसीपी, नेशनल कांफ्रेंस, आईयूएमएल, आप पार्टी और केरल कांग्रेस मौजूद थी। बाद में भारत राष्ट्र समिति (वीआरएस) भी विपक्ष के विरोध प्रदर्शन में शामिल हुई।

मीडिया से बात करते हुए मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि लोगों की मेहनत का पैसा बर्बाद हो रहा है। लोगों का विश्वास बैंक और एलआईसी से उठ जाएगा। कंपनियों के शेयर गिर रहे हैं। सभी पार्टियों ने मिलकर तय किया है कि इन सभी मुझे को उठाया जाएगा।

खड़गे ने कहा कि हम सभी इस विषय पर नोटिस पर चर्चा करना चाहते हैं, पर नोटिस को खारिज कर दिया गया। खड़गे ने कहा कि एलआईसी, एसबीआई सहित अन्य सरकारी संस्थानों में जो लोगों का पैसा है, इसकी जांच उच्चतम न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश की निगरानी में कर प्रतिदिन रिपोर्ट जनता के सामने रखनी चाहिए।

बताते चलें कि संसद का बजट सत्र मंगलवार से आरंभ हो गया है। इसका पहला चरण 14 फरवरी तक होगा। वहीं करीब एक महीने के अवकाश के बाद बजट सत्र का दूसरा चरण 12 मार्च से शुरू होगा और 6 अप्रैल तक चलेगा।

Joinsub_watsapp