News-web

अब ऑनलाइन फ्रॉड की टेंशन हो जाएगी खत्म, ट्रूकॉलर ने भारत में लॉन्च की यह यूनिक सर्विस

Published on:

ट्रूकॉलर ने यूजर्स की ऑनलाइन फ्रॉड की टेंशन अब खत्म करने के बारे में सोच लिया है।इंस्टेंट मैसेजिंग और कॉलर आईडी सर्विस प्रोवाइडर ने एक खास सर्विस लॉन्च की है जिससे यूजर्स के ऑनलाइन फ्रॉड की भरपाई ट्रूकॉलर द्वारा की जाएगी।

ट्रूकॉलर आईडी और इंस्टेंट मैसेजिंग प्लेटफार्म में लोगों को साइबर फ्रॉड से होने वाली दिक्कतों के लिए एक खास सर्विस लॉन्च की है। ट्रूकॉलर की या सर्विस ऑन यूजर्स की टेंशन खत्म करेगी जो किसी कारणवश ऑनलाइन फ्रॉड का शिकार हो जाते हैं। कंपनी ने इन यूजर्स के लिए फ्रॉड इंश्योरेंस सर्विस लाई है।

ट्रू-कॉलर की यह सर्विस Android और iOS दोनों डिवाइस के लिए है। कंपनी ने इसके अलावा पिछले महीने AI कॉल स्कैनर फीचर भी रोल आउट किया है, जो AI बेस्ड वॉइस स्कैम को रोक लगाने का काम करेगा।

ऑनलाइन फ्रॉड का होगा इंश्योरेंस

ट्रूकॉलर ने फ्रॉड इंश्योरेंस सर्विस के लिए HDFC Ergo के साथ साझेदारी की है। कंपनी ने इस सर्विस को फिलहाल केवल भारतीय यूजर्स के लिए लॉन्च किया है। ट्रूकॉलर ने अपने ब्लॉक पोस्ट में कहां है कि आज फ्रॉड इंश्योरेंस सर्विस लॉन्च करने जा रही है जो केवल पेड़ यानी प्रीमियम यूजर्स के लिए है।

कंपनी अपने करोड़ों यूजर्स को ऑनलाइन स्कैन और फ्रॉड से बचने के लिए इस सर्विस को लांच कर रही है। इस इंश्योरेंस प्लान में यूजर्स को ₹10000 का टोटल समय इंश्योरेंस दिया जाएगा।
ट्रू-कॉलर की यह फ्रॉड इंश्योरेंस सर्विस सभी यूजर्स के लिए नहीं है। इसे केवल ट्रू-कॉलर के प्रीमियम यूजर्स ही ले सकते हैं। यह इंश्योरेंस सर्विस एनुअल बेसिस पर ऑफर की जाएगी। जिन यूजर्स के पास प्रीमियम सब्सक्रिप्शन नहीं है, वो अपने प्लान को अपग्रेड कर सकते हैं। कंपनी ने बताया कि कुछ प्लान वाले यूजर्स को ट्रू-कॉलर फ्रॉड इंश्योरेंस सर्विस फ्री ऑफ कॉस्ट यानी मुफ्त में मिलेगी।

इसके अलावा ट्रू-कॉलर फैमिली सब्सक्राइबर्स भी इस प्लान को अपने सभी मेंबर्स के लिए ले सकते हैं। Truecaller ने फर्जी कॉल्स पर लगाम लगाने के लिए AI कॉल स्कैनर सर्विस लॉन्च की है। यह सर्विस भी केवल प्रीमियम यूजर्स के लिए ही है।

इस तरह यूज करें AI कॉल स्कैनर

सबसे पहले यूजर को Truecaller को अपने स्मार्टफोन के डिफॉल्ट कॉलिंग ऐप के तौर पर सेट करना होगा।

इसके बाद कॉल आने पर यूजर को स्क्रीन पर Start AI Detection का प्रॉम्प्ट दिखाई देगा।

अगर, यूजर को कॉलर की आवाज को लेकर कोई संदेह है तो वो इस प्रॉम्प्ट पर टैप कर दें।

इसके बाद कॉल कुछ सेकेंड के लिए होल्ड पर चली जाएगी और यूजर को स्क्रीन पर Analysins दिखाई देगा, जिसका मतलब है कि AI मॉडल कॉल की जांच कर रहा है।

इसके बाद फोन की स्कीन पर नोटिफिकेशन आएगा, जो बताएगा कि आने वाला कॉल में AI वॉइस का यूज किया गया है कि नहीं किया गया है