News-web

अब दिल्ली समेत देश के 61 रेलवे स्टेशनों पर खुलेंगे जन औषधि केंद्र, यात्रियों को मिलेंगी सस्ती दवाएं

Published on:

अब आप स्थानीय रेलवे स्टेशनों से सस्ती दवाएं ले पाएंगे। भारतीय रेलवे ने प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र खोलने का निर्णय लिया है। इसके लिए 61 से अधिक रेल मंडलों के स्टेशनों को चयनित किया गया है।

इसमें पुरानी दिल्ली, यूपी के प्रयागराज, अलीगढ़, गोंडा, बस्ती, बलिया, वाराणसी सिटी, फर्रूखाबाद और उत्तराखंड, पंजाब, राजस्थान समेत दूसरे राज्यों के रेलवे स्टेशन भी शामिल हैं।
अधिकारियों का कहना है कि यह प्रक्रिया अपने अंतिम चरण में है। इन स्टेशनों पर जल्द ही सस्ती दवाओ की दुकान खुलेंगी। प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि केंद्र में करीब 1963 दवाइयां और 293 सर्जिकल उपकरण की बिक्री की जाती है । यहां एंटी-कैंसर, एंटी-डायबिटिक्स, एंटी-इंफेक्टिव्स, एंटी-एलर्जिक, गैस्ट्रो समेत विभिन्न उत्पादों की रोग-प्रतिरोधी क्षमता बढ़ाने वाली दवाइयों की बिक्री करने की अनुमति है। एलोपैथ के साथ आयुर्वेदिक उत्पादों को भी इस योजना में शामिल किया गया है।

रेलवे बोर्ड ने एक सर्कुलर जारी किया है जिसमें 61 स्टेशनों पर जन औषधि केंद्र खोले जाने की प्रक्रिया को तेज किया गया है। इसके पहले ही 50 रेलवे स्टेशनों पर इस तरह के केंद्र खोले जाने का निर्णय लिया गया था। रेलवे ने स्टॉल खोलने के इच्छुक लोगों को आवेदन करने के लिए भी कहा है।
इस तरह के केंद्र खोलने का उद्देश्य सभी लोगों को किफायती मूल्य पर गुणवत्तापूर्ण दवाइयां उपलब्ध कराना है। यही दवा सभी केंद्रीय अस्पतालों में भी सप्लाई की जाती है।

स्टेशनों पर खुलने वाले केंद्र

दिल्ली-पुरानी दिल्ली स्टेशन
उत्तरप्रदेश- प्रयागराज, अलीगढ़, ललितपुर, ऐशबाग, गोंडा जंक्शन, बस्ती, देवरिया जंक्शन, बलिया, फरूखाबाद जंक्शन, कासगंज, बरेली सिटी, बादशाहनगर, वाराणसी सिटी।
राजस्थान-बाड़मेड़, दुर्गापुर, फलना
उत्तराखंड-हरिद्वार स्टेशन
पंजाब-पठानकोट कैंट स्टेशन
झारखंड-जसिडीह स्टेशन
बिहार-भागलपुर, आरा, समस्तीपुर, हाजीपुर, छपरा।