News-web

भीषण गर्मी से राहत नहीं, हीट स्ट्रोक का खतरा,प्री फेब्रिकेटिड वार्ड में दिया जाएगा उपचार

अभी भी भीषण गर्मी का प्रकोप जारी है। वही दिन के समय तेज धूप और गर्म हवाएं चल रही हैं जिससे लगातार हीट स्ट्रोक का खतरा बना हुआ है। जिसको देखते हुए अस्पताल के प्री-फेब्रिकेटिड वार्ड को ठीक किया जा रहा है।

हीट स्ट्रोक से संबंधित मरीज को प्री-फेब्रिकेटिड वार्ड में भर्ती कर उपचार किया जाएगा।बीते कई दिनों से गर्म हवाएं चल रही हैं। अस्पताल में लगातार हीट स्ट्रोक के मरीज आ रहे हैं। हालांकि अब तक हीट स्ट्रोक का कोई गंभीर मरीज नहीं आया है लेकिन ज्यादातर मरीज हीट स्ट्रोक के लक्षण वाले ही आए हैं। उन्हें ज्यादा समय भर्ती रखने की जरूरत नहीं पड़ी है लेकिन जिस तरह से लगातार लू चल रही है।

उसको देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने हीट स्ट्रोक से पीड़ित मरीजों के उपचार को बेहतर व्यवस्था किए जाने के निर्देश दिए हैं।सिविल अस्पताल रुड़की के सीएमएस डॉ. संजय कंसल ने बताया कि हीट स्ट्रोक से पीड़ित मरीजों के उपचार की पूरी व्यवस्था है।