Join WhatsApp

News-web

NEET Result 2024: जाने कैसे नीट यूजी परीक्षा में 67 बच्चों ने किया टॉप, ऐसे हुई यह बड़ी धांधली

Published on:

4 जून को नीट यूजी की परीक्षा के रिजल्ट देश में जारी किए गए। इसके बाद पूरे देश में बवाल मच गया क्योंकि लोगों को पता चला कि 67 बच्चों ने परीक्षा में टॉप किया है उन सभी बच्चों के 720 में से 720 अंक आए हैं। जिसके बाद लोगों ने परीक्षा में धांधली के आरोप लगाए हैं

हरियाणा के 6 छात्रों ने पाए 720 में से 720 अंक

इसके अलावा नेशनल टेस्टिंग एजेंसी के द्वारा जारी रिजल्ट में फुल स्कोर पाए गए कैंडीडेट्स की सीट संख्या एक ही क्रम में होने की वजह से और ज्यादा बवाल मच गया है  यह सारे कैंडिडेट हरियाणा के हैं जिसके बाद लोगों ने एनटीए पर भी सवाल खड़े कर दिए हैं। लोगों का कहना है कि एक ही जगह के 6 छात्रों का टॉप करना कहीं ना कहीं परीक्षा में हुई गड़बड़ी पर सवाल खड़ा करता है।

एक गलत सवाल की वजह से बने इतने टॉपर

अब इस मामले में एनटीए का जवाब आया है। इसके मुताबिक एक गलती की वजह से इतने बच्चों के फुल मार्क्स आए हैं। दरअसल पूरे नंबर पाने वाले 67 कैंडिडेट्स में से 44 कैंडिडेट्स को एक गलत सवाल के लिए अलग से नंबर दिए गए।

ग्रेस मार्क की वजह से 44 छात्र बने टॉपर

नीट यूजी की परीक्षा में पूछे गये सवालों के जवाब 29 मई को जारी किए गए थे जिसमें एक सवाल का उत्तर अलग बताया गया जिस पर 10000 से ज्यादा उम्मीदवारों ने 12वीं की पुरानी एनसीईआरटी की बुक का हवाला देते हुए जारी उत्तर को चैलेंज किया जिसके बाद उसे सवाल का जवाब पुरानी एनसीईआरटी बुक से देने वाले उम्मीदवारों को 5 नंबर का ग्रेस भी दिया गया जिसकी वजह से कुल 44 छात्रों के नंबर 715 से बढ़कर 720 हो गए और वह टॉपर्स की संख्या में आ गए।

NTA के एक अधिकारी ने कहा है कि 67 छात्रों को पहली रैंक दी गई है लेकिन इन सभी को एम्स में प्रवेश नहीं मिलेगा। इन छात्रों का एम्स में दाखिला टाई-ब्रेकर नीति से होगा।