shishu-mandir

अल्मोड़ा – अमन संस्था की कार्यकर्ता नीलिमा अन्तर्राष्ट्रीय प्रतिनिधि सभा(International Representative Assembly) में प्रतिभाग करने को जर्मनी रवाना

editor1
2 Min Read
Screenshot-5

new-modern
holy-ange-school

Almora – Nilima, activist of Aman, left for Germany to participate in the International Representative Assembly

अल्मोड़ा, 21 जून 2023— अमन संस्था अल्मोड़ा की बाल अधिकार कार्यकर्ता व जेजेबी बोर्ड सदस्य नीलिमा ​भट्ट बाल अधिकारों पर कार्य करने वाली अंतर्राष्ट्रीय संस्था टेरेस—दस—होम(टीडीएच) द्वारा आयोजित अन्तर्राष्ट्रीय प्रतिनिधि सभा (International Representative Assembly)में भाग लेने के लिए जर्मनी रवाना हो गई हैं।

gyan-vigyan

यह तीन दिवसीय प्रतिनिधि सभा 23, 24 और 25 जून को जर्मनी के ओसना ब्रुक में आयोजित होगी। नीलिमा भट्ट इसमें हिमालय इकोलॉजी को लेकर अपना प्रस्तुतिकरण देंगी।
इस ​प्रतिनिधि मंडल में भारत से प्रतिभाग करने वाली अमन संस्था ऐसी पहली संस्था है जिसे इसमें प्रतिभाग करने का दोबार मौका मिला है। इससे पहले वर्ष 2013 में अमन के मुख्य कार्यकारी रघु तिवारी और अब बाल अधिकार कार्यकर्ता नीलिमा भट्ट को प्रतिभाग करने का मौका मिला है।
प्रतिनिधि सभा (International Representative Assembly)में अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर विभिन्न देशों के चुने 42 प्रतिनिधि इस कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे।
इस प्रति​निधि सभा के लिए दक्षिण ​एशिया,दक्षिण पूर्व एशिया, अफ्रीका, दक्षिणी अमेरिका तथा यूरोप देशों से प्रति​निधि चुने जाते हैं।
हर 5 साल में यह प्रतिनिधि सभा (International Representative Assembly)आयोजित होती है। जो अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर बच्चों के लिए प्रस्तावित कार्यक्रमों और अभियानों पर निर्णय लेती है। इस बार की तीन दिवसीय प्रतिनिधि सभा 23, 24 और 25 जून को जर्मनी के ओसना ब्रुक में आयोजित होगी। नीलिमा भट्ट इसमें हिमालय इकोलॉजी को लेकर अपना प्रस्तुतिकरण देंगी।
नीलिमा भट्ट अमन संस्था से जुड़ी है। बच्चों के लिए विभिन्न अभियानों में सक्रिय रूप से कार्य करने वाली नीलिमा इससे पहले बाल कल्याण समति की सदस्य भी रह चुकी हैं और वर्तमान में किशोर न्याय बोर्ड की सदस्य हैं। पिछले दो साल से वह विभिन्न माध्यमों से इस अन्तर्राष्ट्रीय प्रतिनिधि सभा के लिए आन लाइन रूप से कार्यक्रमों में शिरकत कर रही हैं। उन्होंने बच्चों और किशोरियों के कल्याण और सुरक्षा के लिए विभिन्न स्तर पर कई प्रयास किए हैं। इस बार इस प्रतिनिधि सभा में उन्हें हिमालयी इकोलॉजी को लेकर अपना प्रस्तुतिकरण देना है।