News-web

फिर है किसी की कलाई पर दिख सकती है HMT की घड़ी, सरकार कर प्लानिंग

भारत में जब तक क्वार्ट्ज घड़ियां नहीं आई थी तब तक चाबी वाली घड़ियां ही हर आम आदमी की कलाई पर टिक-टिक करती थी। इन घड़ियों को बनाने का काम सरकारी कंपनी ‘हिंदुस्तान मशीन टूल्स’ करती थी।घड़ियों के मामले में देश को आत्मनिर्भर बनाने का काम इसी कंपनी द्वारा किया गया है। अब इस कंपनी को लेकर सरकार एक बड़ी योजना बनाने जा रही है।

एचएमटी, हेवी इंडस्ट्री एंड स्टील मंत्रालय के तहत आने वाली सरकारी कंपनी है। चुनाव बाद में देश में बनी राजग सरकार में इस मंत्रालय का प्रभार जनता दल सेक्युलर के नेता एच. डी. कुमारास्वामी को मिला है। हाल में उन्होंने एचएमटी के अधिकारियों के साथ एक अहम बैठक की है।केंद्रीय भारी उद्योग और इस्पात मंत्री एच. डी. कुमारस्वामी ने कंपनी के अधिकारियों के साथ बैठक करके उन्हें हिंदुस्तान मशीन टूल्स (एचएमटी) को पटरी पर लाने के निर्देश दिए हैं।

उन्होंने कंपनी के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर राजेश कोहली को कंपनी के रिवाइवल का प्रपोजल बनाने को कहा है।साथ ही पूछा है कि वे बताएं कि इसके लिए उन्हें केंद्र सरकार से क्या मदद चाहिए।मंत्रालय द्वारा मिली जानकारी के अनुसार एच. डी. कुमारास्वामी ने अधिकारियों से एचएमटी के बिजनेस, नेट प्रॉफिट के साथ-साथ कंपनी की माली हालत, प्रोडक्शन और ऑपरेशन की परिस्थितियों को लेकर चर्चा की है। साथ ही इस पर और डिटेल मांगी है।