कोरोना के खतरे के बीच यह बोले स्वास्थ्य मंत्री धन सिंह

उत्तरा न्यूज डेस्क
2 Min Read

देश भर में कोरोना महामारी ने एक बार फिर से दस्तक दे दी है। जिससे निपटने के इंतजाम किए जा रहें हैं। स्वास्थ्य मंत्री धन सिंह रावत ने कहा कि कोरोना से निपटने के लिए उत्तराखंड में पर्याप्त इंतजाम है। किसी भी चुनौती से निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से तैयार है।

उन्होंने बताया कि वर्तमान में 5893 ऑक्सीजन स्पोर्ट आइसोलेशन बेड, 31 सौ से अधिक प्रशिक्षित पैरामेडिकल स्टाफ उपलब्ध है। उन्होंने कहा कि कोविड और इंफ्लूएंजा से ग्रसित मरीजों के लिए प्रदेश के अस्पतालों में ऑक्सीजन और बेड की पर्याप्त व्यवस्था है। 5,893 ऑक्सीजन सपोर्टेड आइसोलेशन बेड, 1,204 आईसीयू बेड, वेंटीलेटर युक्त 894 आईसीयू बेड, 1,298 क्रियाशील वेंटीलेटर, 7,561 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, 15,950 ऑक्सीजन सिलिंडर, 93 क्रियाशील पीएसए प्लांट, 807 क्रियाशील ऑक्सीजन स्टोरेज टैंक उपलब्ध हैं।

इसके साथ ही कोविड-19 प्रबंधन में प्रशिक्षित 3,161 पैरामेडिकल स्टॉफ की टीम शामिल है। वर्तमान में कोविड जांच के लिए प्रदेश में 50 से अधिक पैथोलॉजी लैब स्थापित है। इसमें 12 लैब सरकारी हैं। इसके अलावा पीएचसी और सीएचसी स्तर पर एंटी रैपिड टेस्ट की सुविधा है।

मंत्री धन सिंह रावत ने कहा कि 15 मार्च 2020 में प्रदेश में कोविड का पहला मामला सामने आया था। उस समय प्रदेश में कोविड सैंपल जांच के लिए एक भी लैब नहीं थी। सैंपल जांच के लिए हैदराबाद भेजे जाते थे।लेकिन अब स्थिति अलग है। 50 से अधिक लैब में कोविड की जांच की सुविधा उपलब्ध है।