News-web

प्लेटफार्म पर खड़े थे पांच लड़के, जीआरपी को देखते ही घबराए फिर तलाशी में जो मिला, दंग रह गए सभी

Published on:

Gorakhpur Latest News : गोरखपुर रेलवे स्टेशन पर जीआरपी टीम गश्त कर रही थी तभी उन्हें प्लेटफार्म नंबर एक पर पांच लड़के नजर आए। जीआरपी को देखते ही उन सभी के चेहरे से हवाइयां उड़ने लगी।जीआरपी ने उनसे कुछ सवाल किया जिसके वह जवाब नहीं दे पाए फिर उनकी तलाशी ली गई उसके बाद जो मिला उससे सभी की होश उड़ गए।

गोरखपुर रेलवे पुलिस को एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। बताया जा रहा है कि जीआरपी ने मोबाइल चोरों के छात्र गैंग को पकड़ लिया है। सरगना समेत पांच शातिर मोबाइल चोरों को गिरफ्तार किया गया है। दिलस्चप है कि शातिर गैंग के बदमाश छोटे बच्चों के जरिये मोबाइल चोरी की घटना को अंजाम दिया करता था।

मोबाइल चोर गैंग हर महीने चोरी के बदले बच्चों को ₹25000 भी देते थे। रेलवे स्टेशन बस स्टैंड के साथ ही शहर के भीड़भाड़ वाले इलाके में बदमाशों का गैंग एक्टिव हो गया था। गिरफ्तार पांच बदमाशों के पास से 47 एंड्राइड फोन बरामद किए गए हैं जिनकी कीमत 11 लख रुपए बताई जा रही है। जीआरपी ने रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर 5 से इन शातिर बदमाशों को गिरफ्तार किया है।

मीडिया से बातचीत के दौरान एसपी रेलवे डॉक्टर अवधेश सिंह ने बताया है कि यह गैंग चोरी के स्मार्टफोन को बंगाल और झारखंड में ले जाकर बेचा करता था। गैंग के चार सदस्य झारखण्ड और एक सदस्य गोरखपुर का रहने वाला है।

एसपी ने बताया कि गोरखपुर के स्थानीय ऑटो चालक की मदद से इन मोबाइल चोरों के गैंग को पकड़ा गया है। जो शहर में घूम घूम कर चोरी को अंजाम दे रहे थे बताया जा रहा है कि 5 महीने पहले भी इसी गैंग के लोगों ने चोरी की थी और इन्हें जेल भी भेजा गया था। लेकिन जेल से छूटने के बाद इन्होंने फिर से मोबाइल चोरी की वारदात को अंजाम दिया।

रेलवे एसपी डा. अवधेश सिंह ने बताया, ‘प्लेटफॉर्म नंबर एक पर 5 संदिग्ध खड़े थे। सभी आरोपियों के बारे में पहले से भी सूचना मिल रही थी। इनके पास से पिछले 8 दिन में चोरी के मोबाइल मिले हैं। सभी आरोपी रेलवे स्टेशन से टैंपो किराए पर लेते थे। छोटे-छोटे बाजारों में जाकर बच्चों के जरिये मोबाइल चोरी को अंजाम देते थे।