News-web

आप जानतें हैं भारत में कितनी है प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और सांसदों की तनख्वाह, क्या क्या मिलती है सुविधाएं? जानें यहां

प्रधानमंत्री के काम को तो सभी जानते होंगे लेकिन पीएम को मिलने वाली सैलरी और सुविधाओं की जानकारी शायद ही किसी को पता होगी। यहां हम बताएंगे प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और सांसदों को मिलने वाले वेतन, भत्ते और अन्य सुविधाओं के बारे में। भारत में प्रधानमंत्री की सैलरी 1.66 लाख रुपये प्रति महीने है।

इसमें 50,000 रुपये बेसिक सैलरी, 3,000 रुपये का व्यय भत्ता, 45,000 रुपये का संसदीय भत्ता और 2,000 रुपये का दैनिक भत्ता शामिल है। प्रधानमंत्री को मिलने वाली सुविधाओं की बात की जाए तो उन्हें एक आधिकारिक सरकारी निवास, विशेष सुरक्षा समूह (एसपीजी) सुरक्षा, सरकारी वाहनों और विमानों की सुविधा, अंतरराष्ट्रीय यात्राओं के लिए सरकार की ओर से किराये, ठहरने और भोजन का खर्च भी मिलता है।

यदि कोई भारत में प्रधानमंत्री बनता है तो सेवानिवृत्ति के बाद भी उसे कई सुविधाएं मिलती हैं। जैसे सबसे अहम है पांच साल के लिए फ्री में सरकारी घर, बिजली, पानी और एसपीजी की सुविधा भी पूर्व पीएम को इस दौरान मिलती है। राष्ट्रपति का पद काफी अहम है। राष्ट्रपति के वेतन और भत्ते – भारत के राष्ट्रपति की भी कई शक्तियां हैं। भारत में राष्ट्रपति को हर महीने 5 लाख रुपये की सैलरी मिलती है। इसके अलावा उन्हें कई टैक्स फ्री भत्ते भी मिलते हैं, जिनमें दुनिया भर में ट्रेन और विमान से फ्री यात्रा, फ्री में घर, चिकित्सा देखभाल और कार्यालय खर्च के लिए सालाना 1 लाख रुपये शामिल हैं।

भारत में एक सांसद को हर महीने 1 लाख रुपये की सैलरी मिलती है। इसके अलावा दैनिक भत्ता भी मिलता है, जिसमें हर पांच साल में बढ़ोतरी होती है। भारत में किसी भी सांसद को संसद सत्र, समिति की बैठकों में भाग लेने के लिए 2,000 रुपये का दैनिक भत्ता और सड़क यात्रा के लिए 16 रुपये प्रति किलोमीटर का यात्रा भत्ता भी मिलता है। इसके अलावा सांसदों को 45,000 रुपये प्रति माह का निर्वाचन क्षेत्र भत्ता और 45,000 रुपये प्रति माह का कार्यालय व्यय भत्ता भी मिलता है, जिसमें स्टेशनरी और डाक के लिए 15,000 रुपये शामिल हैं। सैलरी के अलावा सांसद को परिवार के लिए फ्री मेडिकल सुविधा, एक सरकारी आवासा, अपने और अपने निकटतम रिश्तेदार के लिए हर साल 34 फ्री घरेलू हवाई यात्राएं करने की सुविधा भी मिलती है।