News-web

आईपीएल में मालिकों का दबाव: क्या खिलाड़ियों पर हावी होते हैं फ्रैंचाइज़ी ओनर्स? जानें, फैन्स की प्रतिक्रिया…

Published on:

Do franchise owners dominate the players? Know the reaction of the fans

लखनऊ को हैदराबाद के हाथों मिली करारी हार के बाद लखनऊ सुपर जायंट्स के मालिक संजीव गोयनका ने टीम के कप्तान केएल राहुल से मैदान पर ही तीखी बहस कर ली, जिसके बाद फ्रैंचाइज़ी ओनर्स द्वारा खिलाड़ियों पर डालें जाने वाले दबाव को लेकर बहस छिड़ गई है। इस पर एक प्रसिद्ध न्यूज चैनल्स के पोल के अनुसार ज़्यादातर फैंस ने कहा कि, ‘आईपीएल में मालिक खिलाड़ियों पर ज़रूरत से ज़्यादा हावी रहते हैं।’

फैंस ने दी अपनी प्रतिक्रिया

पोल के अनुसार 82% फैंस ने कहा कि, आईपीएल फ्रैंचाइज़ी के मालिक खिलाड़ियों पर ज़रूरत से ज़्यादा हावी रहते हैं, जबकि 11% फैंस ने इससे अपनी असहमति जताई है। वहीं 7% फैंस ने इस पर कोई राय नहीं दी।

संजीव गोयनका द्वारा केएल राहुल से की गई बातचीत का वीडियो वायरल होने के बाद उनकी काफ़ी आलोचना हो रहीं है। कई पूर्व क्रिकेटरों ने इसे गलत बताते हुए कहा कि, ऐसी बातचीत ड्रेसिंग रूम में होनी चाहिए, ना कि मैदान पर।

तालमेल पूर्ण हो ओनर्स और टीम का रिश्ता

आईपीएल एक हाई-प्रेशर टूर्नामेंट है, जहाँ करोड़ों रुपए दांव पर लगे होते हैं। ऐसे में फ्रैंचाइज़ी ओनर्स पर भी जीत का दबाव होता है, जो कई बार खिलाड़ियों पर भी आ जाता है। तो ऐसे में ज़रूरी है कि फ्रैंचाइज़ी ओनर्स और खिलाड़ियों के बीच एक स्वस्थ रिश्ता हो। मालिकों को खिलाड़ियों का सम्मान करना चाहिए और उन्हें खेलने की आज़ादी देनी चाहिए। वहीं, खिलाड़ियों को भी टीम के प्रति अपनी ज़िम्मेदारी समझनी चाहिए और अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की कोशिश करनी चाहिए।