Dance emperor udaya shankar birth anniversary

अल्मोड़ा। कुमाऊं लोक कलाकार संगठन एवं देवभूमि मां शारदे लोक कला समिति अल्मोड़ा के संयुक्त तत्वाधान में प्रख्यात नृत्य सम्राट उदयशंकर (Dance emperor udaya shankar) का 120 वा जन्म दिवस एक सूक्ष्म विजुअल उत्सव के रूप में मनाया गया।

महासंघ महासचिव और लोक गायक गोपाल सिंह चम्याल ने सर्वप्रथम दीप प्रज्वलित कर एवं प्रख्यात नृत्य सम्राट उदयशंकर जी के प्रतिमा पर माल्यार्पण किया कर उनके जीवन पर प्रकाश डाला।

नृत्य सम्राट उदय शंकर(dance emperor Uday Shankar) केे जन्म दिवस पर विहान संस्था ने दी वर्चुअल प्रस्तुतियां

लोक गायल चम्याल ने कहा कि उत्तराखण्ड की सांस्कृतिक राजधानी अल्मोड़ा का सौभाग्य है कि यह नृत्य सम्राट उदयशंकर की कर्मभूमि रही है एवं उन्हीं के नाम पर अल्मोड़ा में नाट्य अकादमी बनी है। कहा कि एक दुख का विषय है कि अकादमी लगभग 20 वर्षों से सुचारू नहीं हो सकी है। उन्होंने कहा कि संगठन इस अकादमी को सुचारू रूप से शुरू करवाने के लिये प्रयासरत है।(Dance emperor udaya shankar)

Uttarakhand cabinet meeting— राज्य में इस तिथि से खुलेंगे उच्च शिक्षण संस्थान, जानिए कैबिनेट के अन्य फैसले

नृत्य सम्राट उदयशंकर के जीवन वृत पर प्रकाश डालते हुए लोक गायक चम्याल ने कहा कि स्वर्गीय श्री उदय शंकर का जन्म 8 दिसंबर 1900 ईसवी को राजस्थान के उदयपुर में हुआ था। वह भारत के आधुनिक नृत्य के जादूगर थे।

कुशल कोरियोग्राफर एवं नृत्य निदेशक के रूप में उन्होंने पारंपरिक भारतीय शास्त्रीय नृत्य को नई ऊंचाइयों तक पहुंचाया। 1962 में उन्हें भारत सरकार द्वारा संगीत नाटक अकादमी फैलोशिप से सम्मानित किया गया एवं 1971 में भारत सरकार ने उन्हें भारत के सर्वोच्च दूसरा नागरिक सम्मान पदम विभूषण से सम्मानित किया था। (Dance emperor udaya shankar)

उत्तराखंड— ​18 साल से विधवा पेंशन (vidhava pension) ले रही थी सुहागिन, पोल खुलने पर वसूली का नोटिस जारी

विश्व भारती द्वारा उन्हें 1975 में देसी कोल्लम सम्मान से नवाजा गया। कार्यक्रम में देवभूमि मां शारदे लोकला समिति के संयोजक दयानंद कठैत ने कहा कि सभी कलाकारों को स्वर्गीय उदय शंकर के पद चिन्हों पर चलना चाहिए। चंदन कुमार और कार्यक्रम के संयोजक अमर बोरा ने कहा कि वैश्विक कोरोना महामारी की वजह से कार्यक्रम को इस बार ऑनलाइन माध्यम से सूक्ष्म रूप में आयोजित किय गया है। और अगले वर्ष इसे भव्य रूप से आयोजित किया जायेगा।(Dance emperor udaya shankar)

कार्यक्रम में जय श्री राधे कृष्णा म्यूजिकल ग्रुप के मुख्य संयोजक रंगकर्मी अमर बोरा एवं श्री कृष्णा म्यूजिकल ग्रुप के युवा बांसुरी वादक एवं लोक गायक कल्याण बोरा ने कुमाऊनी भजन पंच नाम देवता की प्रस्तुति दी। तबले में संगत अमर बोरा, हुड़का मे दयानंद ने संगत दी। कार्यक्रम में काजल भारती द्वारा भी अपनी वर्चुअल प्रस्तुतियां दी गई।

कृपया हमारे youtube चैनल को सब्सक्राइब करें

https://www.youtube.com/channel/UCq1fYiAdV-MIt14t_l1gBIw