COVID-19

बागेश्वर, 22 फरवरी 2021
कई राज्यों में कोरोना COVID-19
के बढ़ते मामलों को देखते हुए जिला प्रशासन अलर्ट हो चुका है। जिलाधिकारी ने सभी अधिकारियों को और अधिक सर्तकता एवं सजगता से कार्य करने के निर्देश दिए है साथ ही मुख्य चिकित्साधिकारी को सैंपलिंग बढ़ाने के लिए निर्देशित किया है।

जिलाधिकारी विनीत कुमार की अध्यक्षता में जिला कार्यालय सभागार में अधिकारियों के साथ एक समीक्षा बैठक आहूत की गई। बैठक जिलाधिकारी ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिए कि कोविड-19 (COVID-19) टीकाकरण के लिए प्रथम एवं द्वितीय चरण में चयनित किए गए अधिकारियों एवं कर्मचारियों का शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन का कार्य सुनिश्वित कराया जाय, इसमें किसी भी प्रकार की कोई लापरवाही न बरती जाय।

उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी को यह भी निर्देश दिए कि जनपद में सैंपलिंग के कार्य को और अधिक बढाया जाए, यदि किसी क्षेत्र से किसी प्रकार की कोई संक्रमित व्यक्ति की सूचना प्राप्त होती है तो पूर्व की भांति गठित टीमों द्वारा इस पर त्वरित कार्यवाही करते हुए संबंधित क्षेत्र से सैंपलिंग की व्यवस्था सुनिष्चित की जाय, इसके लिए उन्होने सभी गठित टीमों को अपने-अपने क्षेत्रों में निरंतर निगरानी रखने के भी निर्देश दियें।

उन्होंने सीएमएस को चिकित्सालय में आने वाले मरीजों का ट्रूनेट टेस्ट, एंटीजन एवं आरटी—पीसीआर टेस्ट कराने के भी निर्देश दिए। उन्होंने सभी उपजिलाधिकारियों को भी निर्देश दिए कि आगामी दिनों में 50 वर्ष से अधिक उम्र के व्यक्तियों में लगायें जाने वाले टीके के लिए चिन्हित किए गए वैक्सीनेशन सेंटरों में सभी आवश्यकता व्यवस्थाएं सुनिश्चित कराई जाए।

उन्होने यह भी निर्देश दिए कि जिन अधिकारियों एवं कर्मचारियों द्वारा वैक्सीनेशन नहीं किया गया हैं तथा अनुपस्थित रहें हैं, उनकी सूची तैयार करते हुए उनका वैक्सीनेशन सुनिश्वित किया जाए।
बैठक में मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ. बीडी जोशी ने जिलाधिकारी को अवगत कराया कि प्रथम चरण में 2692 स्वास्थ कर्मचारी व आंगनबाडी कार्यकत्रियों को टीकाकरण हेतु चिन्हित किया गया था, जिसमें से 2221 लोगो का टीकाकरण किया गया। तथा द्वितीय चरण में फं्रट लाईन में कार्य कर रहें 1601 अधिकारी एवं कर्मचारी की सूची बनायी गयी थी जिसमें से 1427 लोगों द्वारा टीकाकरण (COVID-19)
किया गया।

Covid-19 (पिथौरागढ़) प्रथम चरण का टीकाकरण 7 फरवरी तक पूरा कराएंः डीएम

बैठक मे मुख्य विकास अधिकारी डीडी पंत, अपर जिलाधिकारी हेमन्त कुमार वर्मा, उपजिलाधिकारी काण्डा राकेश चन्द्र तिवारी, कपकोट प्रमोद कुमार, गरुड़ जयवर्द्धन शर्मा, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक एसपी त्रिपाठी, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी एनएस टोलिया, डाॅ. हरीश पोखरिया, डाॅ. गुंज्याल, डाॅ. वृजेश रावत सहित संबंधित अधिकारी मौजूद थे।

कृपया हमारे youtube चैनल को सब्सक्राइब करें

https://www.youtube.com/channel/UCq1fYiAdV-MIt14t_l1gBIw/