उत्तरा न्यूज
अभी अभी

कांग्रेस का आरोप:: अल्मोड़ा में स्वीकृत मार्गों की दोबारा घोषणा कर गए सीएम

उत्तरा न्यूज की खबरें अब whatsapp पर, इस लिंक को क्लिक करें और रहें खबरों से अपडेट बिना किसी शुल्क के
Join Now


 

अल्मोड़ा, 09 सितंबर 2021- कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि मुख्यमंत्री अपने अल्मोड़ा दौरे के दौरान पूर्व में स्वीकृत मोटर मार्गो की दोबारा घोषणा कर गए।

nitin communication

कांग्रेस का कहना है कि अच्छा होता यदि पूर्व में घोषित मार्गों को सरकार वित्तीय व प्रशासनिक स्वीकृति प्रदान करती।
 
कांग्रेस के जिला अध्यक्ष पीताम्बर पांडे व ब्लाँक अध्यक्ष पूरन बिष्ट ने कहा कि कांग्रेस शासन में स्वीकृत चलमोड़ी,गाढ़ा-नया सिरकोट व चिल से नया सिरोट मोटर मार्गो में वित्तीय प्रशासनिक स्वीकृति दिलाने के बजाय अल्मोड़ा में वर्तमान मुख्यमंत्री द्वारा इन्हीं गांवों के लिए मोटर मार्ग की दुबारा घोषणा करना चुनावी  झुनझुना थमाना और ग्रामीण जनता को गुमराह करना है।

 दन्या में पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि उन्होंने कहा कि वर्ष 2016 में शासनादेश संख्या 1218 के अंतर्गत चिल से नया सिरकोट चापड़ बैंड 5 किलोमीटर का मोटर मार्ग स्वीकृत हुआ था।उन्होंने बताया कि इसी वर्ष चलमोढ़ी गाढ़ा से पढाईबाड़ी जोग्यूड़ा कोट्यूड़ा व नया सिरकोट के लिए भी शासनादेश संख्या 1517 के तहत 5 किलोमीटर मोटर मार्ग स्वीकृत हुआ था।

ayushman diagnostics

उन्होंने बताया कि इन मार्गों के निर्माण के लिए ग्रामीणों द्वारा अनापत्ति प्रमाण पत्र विभाग को सौंपा गया है।

विभाग में तीन बार सर्वेक्षण करवाने के उपरांत वन भूमि हस्तांतरण की कार्यवाही गतिमान है।उन्होंने बताया कि सरकार बदलने के बाद उक्त गांव के लिए सड़क निर्माण की कार्यवाही भाजपा द्वारा ठंडे बस्ते में डाल दी गई।

कांग्रेस नेताओं ने आश्चर्य व्यक्त करते हुए कहा कि ठीक चुनाव से ऐन पहले मुख्यमंत्री द्वारा अल्मोड़ा में इन्हीं गांवों के लिए सड़क बनाए जाने की घोषणा करना ग्रामीणों को मात्र गुमराह करना है।

जिलाध्यक्ष पीतांबर पांडे और ब्लॉक अध्यक्ष पूरन बिष्ट का कहना है कि पूर्व में स्वीकृत मोटर मार्गो में वित्तीय और प्रशासनिक स्वीकृति दिलाने के बजाय सरकार ग्रामीणों को गुमराह कर रही है।

इधर कोट्यूड़ा,पढाई,खूना,नया सिरकोट व बाड़ी जोग्यूड़ा के ग्रामीणों ने साढ़े चार साल पूर्व स्वीकृत मोटर मार्गो में कार्य आरंभ न किए जाने और स्वीकृत सड़कों को अधर में लटकाने पर गहरी नाराजगी व्यक्त की है। 

उन्होंने मुख्यमंत्री से  उक्त मोटर मार्गो में वित्तीय एवं प्रशासनिक स्वीकृति प्रदान कर मोटर मार्गो के निर्माण कार्य आरंभ कर यातायात का लाभ लोगों को दिलाने की मांग की है।

Related posts

कैंपिंग करने वालों के लिए ये 4 जगह कर रही हैं इंतजार

Newsdesk Uttranews

ब्रेकिंग— CBSE ने जारी किया 12वीं का रिजल्ट, ऐसे करें चेक

UTTRA NEWS DESK

Uttarakhand Breaking – राज्य में अब 100 प्रतिशत क्षमता के साथ चलेगे वाहन, एसओपी हुई जारी

Newsdesk Uttranews