उत्तरा न्यूज
अभी अभी उत्तराखंड

Uttarakhand : बीजेपी सरकार के खिलाफ कोर्ट जाएगी कांग्रेस, जानिए क्या है मामला

Uttarakhand Breaking Almora - The dead body of a young man found on the side of the road, stirred up the area

खबरें अब whatsapp पर
Join Now

उत्तराखंड (Uttarakhand) में जैसे जैसे 2022 चुनाव नजदीक आ रहे है वैसे वैसे राजनीति भी गरमाती जा रही है। जहां सत्ता पक्ष अपने काम गिना रहा है तो विपक्ष उन्हें लपेट रहा है। ऐसा ही कुछ आज भी होता दिखा। जहां भारतीय जनता पार्टी उत्तराखंड में पिछले 21 सालों से यूपी के साथ चल रहे परिसंपत्ति विवाद को सुलझाने का दावा कर रही है, तो वहीं कांग्रेस लगातार इस समझौते के बाद सरकार पर हमलावर हैं। कांग्रेस का कहना है कि भारतीय जनता पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व के द्वारा यह सब करवाया गया है और उत्तराखंड सरकार ने सत्ता के लालच में केंद्र के इशारों पर यह समझौता किया है।

nitin communication

uttarakhand-पूजा से लौट रहे ग्रामीणों का वाहन खाई में गिरा,2 की मौत, 8 घायल

कोर्ट जाने की तैयारी में कांग्रेस

udiyar restaurent
govt ad

कांग्रेस ने परिसंपत्ति विवाद निपटारे के बाद आरोप लगाया है, कि उत्तराखंड कि वर्तमान सरकार उत्तराखंड (Uttarakhand) को बेच कर आ रही है। कांग्रेस का कहना है कि उत्तराखंड के मुख्यमंत्री ने योगी आदित्यनाथ के सामने सरेंडर कर दिया। कांग्रेस का कहना है जो मामले परिसंपत्ति को लेकर कोर्ट में लंबित चल रहे हैं उन्हें वापस लेने की बात कर रही है, जो कि राज्य के लिए बिल्कुल गलत है। उन्होंने कहा कि अगर सरकार न्यायालय में लंबित परिसंपत्तियों के मामलों को वापस लेती है, तो हम इसके खिलाफ कोर्ट में जाने की इजाजत मांगेंगे।

हरीश रावत ने बोला हमला

जहां बीजेपी परिसंपत्ति विवाद निपटारे को लेकर अपनी पीठ थपथपा रही है, तो वही उत्तराखंड (Uttarakhand) के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को लेकर हमलावर हो गए हैं। हरीश रावत ने परिसंपत्तियों के समझौते के इस दिन को काला दिन बताया है और उन्होंने कहा कि हम इस समझौते को पूरी तरह से खारिज करते हैं।

uttarakhand-पूजा से लौट रहे ग्रामीणों का वाहन खाई में गिरा,2 की मौत, 8 घायल

हरीश रावत ने कहा कि उत्तराखंड के (Uttarakhand) मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के समक्ष समर्पण करके आ रहे हैं और कांग्रेस इस मसले पर राजभवन और सुप्रीम कोर्ट तक जाएगी। हरीश रावत ने कहा कि परिसंपत्तियों के मसले पर भाजपा सरकार ने दो बार समझौते किए लेकिन इसमें केवल शब्दों का उलटफेर ही रहा।

Related posts

एक बार तो आईये अल्मोड़ा के मुण्डेश्वर महादेव मंदिर ​

Newsdesk Uttranews

उठी मांग— अल्मोडा में स्थापित सहकारिता निदेशालय को देहरादून स्थानान्तरित न किया जाए

Newsdesk Uttranews

कुमांऊ विश्वविद्यालय सहित समस्त महाविद्यालयों में छात्रसंघ चुनाव की अधिसूचना जारी

Newsdesk Uttranews