communication system QDA started in uttarakhand

दूरस्थ ग्रामों के नो सिंगल एरिया में संचार के लिए एसडीआरएफ द्वारा स्थापित किया गया है क्विक डिप्लोएबल एंटिना।

देहरादून। उत्तराखंड जैसे पहाड़ी राज्य में प्रत्येक स्थान पर संचार सुविधाएं उपलब्ध होना सदैव एक चुनौती रही है। इस समस्या का समाधान निकालने के लिए दूरस्थ ग्रामों के संपर्क विहीन क्षेत्रों में एसडीआरएफ द्वारा क्विक डिप्लोएबल एंटिना स्थापित किया गया है जिससे संचार को सुगम बनाया जा सकता है। इस तकनीक का उपयोग करने वाला उत्तराखण्ड देश का पहला राज्य बन गया है।

देहरादून के सचिवालय स्थित एसडीएमए, कन्ट्रोल रूम से क्यू.डी.ए का शुभारम्भ कर मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सुदूरवर्ती ग्रामों- मलारी, गुंजी और त्यूणी के ग्रामीणों से बात की। इस दौरान मुख्यमंत्री ने क्षेत्र की समस्याओं की जानकारी भी प्राप्त की। उन्होंने एसडीआरएफ के कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि इस प्रकार की प्रणाली उत्तराखंड में किसी भी आपदा संकट के दौरान भी संजीवनी का काम करेगी और इसके परिणाम अत्यंत सुखद ओर लाभकारी होंगे।

क्यूडीए एक प्रकार से नो सिंगल एरिया से संचार स्थापित करने की महत्तम ओर नवीनतम टेक्नोलॉजी है। इस प्रणाली में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग और डेटा को भेजने के लिए 1.2 मीटर क्यू.डी.ए (वी.एस.ए.टी) एंटीना टर्मिनलों और 1.2 मीटर स्टेटिक (वी.एस.ए.टी बहुत छोटे एपेरचर टर्मिनल) एंटीना टर्मिनल का उपयोग होता है। यह विभिन्न वीसैट टर्मिनल के साथ उपग्रह आधारित संचार स्थापित करने में मदद करता है। वॉयस और वीडियो संचार को दूरस्थ से दूरस्थ वी.एस.ए.टी टर्मिनलों तक संप्रेषित किया जाता है। 1.2 मीटर क्यू.डी.ए वी.एस.ए.टी एक पोर्टेबल सिस्टम है जो अलग-अलग दूरस्थ क्षेत्रों में तुरंत स्थापित किया जा सकता है सकता है और किसी भी इलाके में स्थापित हो सकता है।