उत्तराखण्ड में पीआरडी जवानों के लिए आई खुशखबरी,आपदा ड्यूटी में मिलेंगी अतिरिक्त धनराशि

उत्तरा न्यूज डेस्क
4 Min Read

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने पीआरडी जवानों के लिए बड़ी घोषणाएं की है। उत्तराखंड प्रांतीय रक्षक दल के स्थापना दिवस पर सीएम धामी ने कहा कि पीआरडी जवानों को आपदा ड्यूटी के दौरान 50 रुपए रोज अतिरिक्त दिए जाएंगे।

इसके साथ ही हल्का सरदारों और ब्लॉक कमंडारो का मानदेय भी बढ़ा दिया गया है। इस मौके पर सीएम धामी ने पीआरडी जवानों के आश्रितों को सहायता राशि के चेक भी वितरित किए और पीआरडी के Logo का भी विमोचन किया।

इस मौके पर सीएम धामी ने ब्लॉक कमांडर का मानदेय 600 से बढ़ाकर 700 रुपये और हल्का सरदार का वेतन 300 से बढ़ाकर 500 रुपये करने की बात कही। सीएम ने कहा कि आपदा डयूटी पर तैनात जवानों को 50 रुपये अतिरिक्त मानदेय मिलेगा।


मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने प्रांतीय रक्षक दल के स्थापना दिवस समारोह में पीआरडी जवानों के लिए कई घोषणाएं करते हुए कहा कि जवानों को दो साल में दो मुफ्त वर्दी मिलेंगी और उन्हें होमगार्ड स्वयं सेवकों की तरह हर महीने दो सौ रुपये धुलाई भत्ता भी दिया जाएगा। प्रशिक्षण और पुन: प्रशिक्षण के दौरान दी जाने वाली वर्दी की दर को 1500 रुपये से बढ़ाकर 2500 रुपये करने की बात भी सीएम धामी ने कही।


युवा कल्याण एवं प्रांतीय रक्षक दल के निदेशालय में आयोजित कार्यक्रम में सीएम ने कहा,कि पीआरडी स्वयंसेवक अपनी निरंतर सेवा और समर्पण भाव से समाज में सकारात्मक परिवर्तन लाने में सहयोग कर रहे हैं। कहा कि सरकार ने उनके हित में कई कदम उठाए हैं। सीएम धामी ने कहा कि पीआरडी जवानों मृतक आश्रितों के लिए पंजीकरण का शासनादेश किया गया है। अब तक 116 मृतक आश्रितों को पंजीकृत किया गया है, जिसमें से 70 मृतकों के आश्रितों को रोजगार दिया जा चुका है और इनमें 25 महिलाएं भी शामिल हैं।


सीएम धामी ने कहा कि प्रांतीय रक्षक दल कल्याण कोष संशोधित नियमावली जारी की गई है। आर्थिक सहायता की धनराशि में वृद्धि कर सांप्रदायिक दंगों के दौरान ड्यूटी पर मृत्यु पर देय राशि को दो लाख किया गया है।


सीएम धामी ने अति संवेदनशील ड्यूटी में मृत्यु की दशा में देय 75 हजार रुपये को बढ़ाकर डेढ़ लाख, सामान्य ड्यूटी के दौरान मृत्यु की दशा में देय 50 हजार को बढ़ाकर एक लाख रुपये किया गया है। प्राकृतिक आपदा से होने वाले नुकसान के लिए भी संबंधित अधिकारी की संस्तुति पर अधिकतम 50 हजार रुपये का प्रावधान किया गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा, कोविड महामारी के दौरान भी पीआरडी स्वयंसेवकों ने बेहतरीन काम किया है। इस मौके पर खेल एवं युवा कल्याण मंत्री रेखा आर्य ने कहा, सरकार ने पीआरडी जवानों के हित में कई अहम निर्णाय लिए हैं। जवानों को एक गर्म और एक सामान्य वर्दी दी जाएगी। 9400 जवानों को इसका लाभ मिलेगा। उनकी अधिवर्षता आयु को 50 से बढ़ाकर 60 वर्ष किया गया है।


मंत्री रेखा आर्या ने कहा कि, पीआरडी के जवानों ने कोरोना काल, चारधाम यात्रा जैसी विषम परिस्थितियों में बेहतर काम किया। कहा कि हमारे जवान अपने प्रदेश के अलावा पड़ोसी प्रदेशों में भी चुनाव के समय शांति व्यवस्था का जिम्मा बखूबी निभाते हैं। इससे पहले रैतिक परेड आयोजित की गई। जवानों ने मुख्यमंत्री और युवा कल्याण मंत्री को मार्च पास्ट कर सलामी दी।


इस मौके पर तीन मृतक स्वयं सेवकों के आश्रितों को 50 से लेकर 75 हजार के चेक दिए गए। कार्यक्रम में विधायक उमेश शर्मा काऊ, विशेष प्रमुख सचिव खेल एवं युवा कल्याण अमित सिन्हा, निदेशक युवा कल्याण जितेंद्र सोनकर, संयुक्त निदेशक अजय अग्रवाल आदि मौजूद रहे।