पहाड़ के परिवेश,पर्यावरण और जरूरी मुद्दों पर पकड़ बनाए रखने का आह्वान

Newsdesk Uttranews
4 Min Read

अल्मोड़ा, 19 दिसंबर 2023—

अमन संस्था के परियोजना क्षेत्र चमोली के 10 गावों से आए युवाओं की टीम का दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम कोसी अल्मोड़ा स्थित शिवालिक होटल में आयोजित किया गया।

सतत विकास लक्ष्यों को प्राप्त करने हेतु युवाओं की भूमिका और भविष्य की योजना पर आधारित इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में युवाओं से अपने परिवेश, पर्यावरण और जरूरी मुद्दों पर पकड़ बनाये रखने का आह्वान किया गया।


कार्यक्रम में प्रशिक्षक डा. पुष्कर सिंह बिष्ट और नीलिमा भट्ट ने युवा संगठन के सदस्यों को पहाड़ की आर्थिकी, पर्यावरण विज्ञान के अलावा विभिन्न जरूरी मुद्दों की जानकारी दी। युवाओं को वर्तमान दौर की सूचना प्रोद्यौगिकी, साइबर अपराध और साइबर सर्तकता की भी जानकारी दी गई। इसके अलावा युवाओं के लेखन कौशल को भी परखा गया। सभी युवाओं ने ग्रुप चर्चा के आधार पर अपने अपने विचारों का प्रस्तुतिकरण किया और अपने शिक्षा और कॅरियर के साथ ही पहाड़ की पारिस्थतिकी के संरक्षण के लिए परियोजना अवधि के दौरान किये गए कार्यों को भविष्य में भी जारी रखने की बात कही। सभी ने भविष्य में भी जरूरी मुद्ददों को लेकर इसी सजगता से कार्य करने की बात कही।


इस मौके पर डा. ​बिष्ट ने पहाड़ की मौजूदा आर्थिकी विज्ञान को कई उदाहरणों के साथ समझाया और बताया कि वर्तमान में पहाड़ में उपलब्ध कई फलों और वनष्पतियों को परिस्कृत कर एक ​बेहतर उत्पाद के रूप में बाजार के माध्यम से लोगों को उपलब्ध कराकर आय अर्जन भी किया जा सकता है। उन्होंने पर्वतीय क्षेत्रों में होने वाले फलों के ​जूस, जैम और जैली ​सहित विभिन्न उत्पाद तैयार करने, बिच्छु या कंडाली की चाय, कंडाली के रेशे से अत्य उत्पाद तैयार करने सहित कई रोजगार परक कार्यों की जानकारी दी और कहा कि परियोजना के दौरान युवाओं ने से फल संरक्षण संबंधी प्रशिक्षण लिये हैं उन्हें स्वरोजगार के रूप में भी अपनाया जा सकता है। और बाजार का चयलन पहले के अपेक्षा अब आनलाइन मोड में काफी विस्तृत हो गया है।


उन्होंने सूचना प्रौद्यौगिकी का प्रयोग कर ई कामर्स वेबसाईटों का निर्माण, ई कामर्स बेबसाईटों में एक सेल्स पर्सन के रूप में कार्य करने का अवसर और अन्य जानकारियां दी।
उन्होंने शिक्षा के साथ सूचना प्रौद्यौगिकी के पहलूओं का अध्ययन करने को भी कहा और बच्चों को गद्य लेखन, कवि​ता लेखन और समाचार लेखन की विधाओं की जानकारी भी दी। सभी से पढ़ने की आदत को और बढ़ाने का भी आह्वान किया।


प्रशिक्षण के अगले सत्र में नीलिमा भट्ट ने युवाओं को साईबर अपराध और साइबर सतर्कता की जानकारी दी और कहा कि वर्तमान में मोबाईल का उपयोग जिस तेजी से बढ़ा है अब शिक्षा,आर्थिकी और सामाजिक स्तरों पर मेलजोल के जितने अधिक अवसर बढ़े हैं उतनी ही चुनौतिया भी बढ़ गई है। सभी से साइबर और वित्तीय लेनदेन में काफी सतर्क और जागरुक रहने को कहा। अमन संस्था के प्रमुख रघु तिवारी, नीलिमा बिष्ट और डा. पुष्कर बिष्ट ने युवाओं के खेल आधारित कई गतिविधियां भी कराई ।


इस दौरान युवाओं ने पिछले पांच सालों में पर्यावरण संरक्षण, जल संरक्षण, वनाग्नि शमन, कूड़ा निस्तारण और सामाजिक कार्यों के रूप में किये गये क्रिया कलावों की जानकारी भी दी और कहा कि जलस्रोतों के संरक्षण के लिए किए गए ईको वॉक के माध्यम से उन्हें काफी कुछ सीखने को मिला।

इस मौके पर जगदीश राम, ​शशि नेगी, कमला, राजलता, रेनू,दीपा, आशा सहित युवा संगठन के 30 सदस्य मौजूद थे।