shishu-mandir

भर्ती घोटाला— कांग्रेस प्रदेश मीडिया प्रभारी राजीव म​हर्षि ने किया सवाल, क्यों है सरकार को सीबीआई जांच से परहेज

Newsdesk Uttranews
2 Min Read
Screenshot-5

देहरादून। उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस मीडिया प्रभारी राजीव महर्षि ने भर्ती घोटाले में सरकार की मंशा पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि आखिर सरकार को सीबीआई जांच से क्यो परहेज है।

new-modern
holy-ange-school


कांग्रेस प्रदेश मीडिया प्रभारी राजीव महर्षि ने देहरादून के गांधी पार्क में शांतिपूर्ण आंदोलन कर रहे बेरोजगार युवाओं के साथ पुलिस द्वारा किए गए लाठीचार्ज को बर्बर, अमानुषिक और निंदनीय कृत्य बताते हुए इसकी कड़ी निन्दा की और इसे इसे चोरी और सीनाजोरी करार दिया है।

gyan-vigyan


महर्षि ने कहा कि भ्रष्टाचार का विरोध राज्य की धामी सरकार को इस कदर नागवार गुजरा है कि मध्य रात्रि को पुलिस भेजकर बेरोजगार युवाओं को उठाया गया, प्रदेश में आज तक ऐसा कोई उदाहरण नहीं देखा गया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार एक भी भर्ती को ईमानदारी और शुचिता से नहीं करवा पाई है जबकि बेईमानी की जांच की मांग कर रहे नौजवानों को रात के अंधेरे में पुलिस का इस्तेमाल कर हिरासत में लिया जा रहा है, यह एक तरह से धामी सरकार की कदाचरण के प्रति स्वीकारोक्ति है।


उन्होंने कहा कि सरकार अपने दायित्व का निर्वहन करने में पूरी तरह विफल रही है। सरकार बेरोजगार युवाओं का भरोसा खोने के साथ अपनी प्रासंगिकता भी खो बैठी है। उन्होंने कहा कि भर्ती परीक्षाओं में धांधली पर से पर्दा हटाने के लिए घोटालों की सीबीआई जांच ही एकमात्र रास्ता रह गया है। उन्होने मांग की कि सरकार तुरंत सीबीआई जांच की घोषणा करे। उन्होंने कहा कि नौजवानों के साथ हो रहे अन्याय की कांग्रेस न सिर्फ निंदा करती है, बल्कि बेरोजगार युवाओं के आंदोलन का समर्थन भी करती है।

उन्होंने दोहराया कि सीबीआई जांच ही भर्ती घोटालों पर विराम लगाने का एकमात्र रास्ता है। उन्होंने सवाल किया कि आखिर भाजपा और उसकी सरकार सीबीआई जांच से बच क्यों रही है। इससे यह संदेह गहरा गया है कि घोटालों में उसकी मिलीभगत है। लोक सेवा आयोग की एक हालिया परीक्षा में घपले से इसका खुलासा भी हो चुका है।