News-web

Pithoragarh- बार्डर से सटे दूरस्थ इलाकों में संचार सुविधा पहुंचाने की कवायद तेज

By editor1

Published on:

पिथौरागढ़। सीमांत जनपद पिथौरागढ़ के चीन व नेपाल सीमा से सटे दूरस्थ गांव-क्षेत्रों में संचार सुविधा पहुंचाने की कवायद तेज हो गई है। रिलायंस जिओ कंपनी के माध्यम से संचार विहीन ऐसे सभी क्षेत्रों का सर्वे किया जा रहा है। जिला प्रशासन के अनुसार जल्द ही ऐसे इलाकों में लोगों को बेहतर संचार सुविधाएं मिलेंगी।

जिलाधिकारी डॉ. आशीष चौहान ने बुधवार को वर्चुअल माध्यम से जिओ कंपनी के अधिकारियों की बैठक लेते हुए नेटवर्क विहीन क्षेत्रों में संचालित कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने कंपनियों के अधिकारियों को निर्देशित किया कि जिन मोबाइल टावरों को लगाने की स्वीकृति दी गई है, उनको तत्काल स्थापित करना सुनिश्चित करें।

कहा कि ऊपरी क्षेत्रों या किसी विवाद वाले स्थानो पर प्रशासन के सहयोग की आवश्यकता है तो उसकी जानकारी संबधित एसडीएम को दें। इसमें हर संभव सहयोग किया जाएगा। उन्होंने संचार व्यवस्था से जुड़े कार्यों को युद्ध स्तर पर पूरा करने को कहा।

जिओ कंपनी के अधिकारी ने वीसी में जानकारी दी कि 12 साइट पर काम लगभग पूरा हो गया है और अगले दो महीने में ये टावर कार्य करना शुरू हो जाएंगे। धारचूला से आगे रांथी तक फाइबर लाइन बिछा दी गई है, जिसे सोबला तक पहुंचाने का कार्य प्रगति पर है। बताया कि आगामी अप्रैल में 105 अन्य गांव-क्षेत्रों में सर्वे का काम भी शुरू किया जाएगा।

गौरतलब है कि जनपद के सीमांत क्षेत्रों में नेटवर्क व्यवस्था को लेकर यूनिवर्सल सर्विस ऑब्लिगेशन फंड/टेलिकम्युनिकेशन विभाग भारत सरकार से आए एडमिनिस्ट्रेटर हरि रंजन राय, इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी के निदेशक अमित सिन्हा, डिप्टी डारेक्टर अरुण वर्मा पिछले माह धारचूला पहुंचे थे। उन्होंने भी संचार व्ववस्था को लेकर कंपनियों को इस दिशा में तेजी से काम करने के निर्देश दिए थे।