News-web

शराब पीने वालों के लिए आई बुरी खबर, अब बिहार के बाद इस राज्य में होगी शराब बंदी

Published on:

Odisha Liqour Ban बिहार में शराब पीने पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा चुका है। अब इसी बीच उड़ीसा में भी शराब पर बैन लगाया जा रहा है। भाजपा सरकार प्रदेश को शराब मुक्त बनाने की तैयारी में जुटी हुई है। इस बात का संकेत खुद उड़ीसा सामाजिक सुरक्षा और दिव्यांग व्यक्तियों के सशक्तिकरण मंत्री नित्यानंद गौड ने दिया।

उड़ीसा में राजनीतिक माहौल के चलते अब भाजपा सरकार ने इस शराब मुक्त बनाने के बारे में सोचा है। सूचना एवं जनसंपर्क विभाग द्वारा 15 अगस्त (स्वतंत्रता दिवस) से ओडिशा में शराब प्रतिबंध का खंडन करने के कुछ दिनों बाद ओडिशा सामाजिक सुरक्षा और दिव्यांग व्यक्तियों के सशक्तीकरण मंत्री नित्यानंद गोंड ने दोहराया कि राज्य सरकार की वास्तव में राज्य में शराब पर प्रतिबंध लगाने की योजना है।

उन्होंने कहा कि राजस्व नुकसान के दर से शराब की बिक्री को बढ़ावा नहीं देना चाहिए। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय मादक पदार्थ दुरुपयोग निषेध दिवस के अवसर पर कहा कि शराब की लत के कारण समाज प्रदूषित हो रहा है। कई राज्यों में सरकारी स्तर पर शराब पर प्रतिबंध लगाया जा चुका है।

हमारी सरकार भी ऐसा करने के लिए सोच रही है। आबकारी व अन्य विभागों से इस संबंध में चर्चा कर आवश्यक कदम उठाए जाएंगे। हम चरणबद्ध तरीके से ओडिशा को शराब मुक्त बनाने की कोशिश करेंगे।

मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार स्वस्थ समाज बनाने के लिए आने वाले दिनों में नशे की खपत को कम करने के लिए भी कदम उठाएगी। उल्लेखनीय है कि बिहार, गुजरात, मिजोरम और नगालैंड राज्यों में शराब प्रतिबंधित है।