News-web

Almora-समस्याओं का निराकरण ना होने से नाराज घनेलीवासी कल से डीएम कार्यालय में करेंगे आमरण अनशन

Published on:

Badrinath Mangalore By-election—2024

समस्याओं का निराकरण ना होने से नाराज घनेलीवासियों ने कल से डीएम कार्यालय में आमरण अनशन की चेतावनी दी है। इस बाबत का पत्र ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को प्रेषित किया है।


ज्ञापन में ग्रामीणों ने कहा है कि अटल आर्दश ग्राम सभा घनेली ग्राम सभा पेयजल की समस्या से जूझ रहा है।यह ग्राम पंचायत तीन तोकों में बटी है पहले तोक में अनुसूचित जाति बस्ती में लगभग 500 की जनसंख्या निवास करती है। इस गांव में पेयजल सोत्र 1 किमी० की दूरी पर है जो पर्याप्त नही है एवं सूखने की कगार पर है। शासन एवं प्रशासन को इस समस्या के बारे में गाँव की ओर से बार-बार अवगत कराने पर भी इसका समाधान आज तक नही हो सका है।

ज्ञापन में आगे कहा गया है कि सवर्ण बस्ती धनेली में पर्याप्त पानी होने के बावजूद सून्या तल्ला धनेली पेयजल योजना रखरखाव के अभाव में क्षतिग्रस्त है और य ग्राम सभा में विद्युत लाइन पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई है और विद्युत लाइन में लगे तार जगह- जगह झूल रहे है और पूरी लाइन पेडो से लिपटी है,जिससे जनहानि होने की संभावना बनी हुई है।

ज्ञापन में ग्रामीणों ने कहा है कि ग्राम सभा के अन्तर्गत पूर्व में किये गये सघर्ष से किसी प्रकार विधायक निधि से लगभग डेढ़ किमी० सड़क बनायी गयी थी जो अपूर्ण और जगह- जगह क्षतिग्रस्त है। ग्रामीणों के बार- बार क्षेत्रीय विधायक से मांग करने उक्त रोड का इस्टीमेट आरईएस के माध्यम से शासन को आगणन के भेजा गया जो आज तक स्वीकृत नहीं हो सका है। जबकि ग्राम वासियों को अभी भी ग्रामीण एवं गर्भवती महिलाओं को स्वास्थ्य समस्या होने पर डोली से डेढ किमी० तक पैदल मुख्य मार्ग तक ले जाना पड़ रहा है।


ज्ञापन में ग्रामीणो ने कहा कि कई वर्षों से भारत सरकार द्वार दी गयी भूमिहिनों को 8 मुठठी जमीन आंवटित की गयी थी तब से आज तक जनसंख्या में वृद्धि होने के कारण लोगों ने अपने मकान के अगल-बगल आवासीय मकान बनाये है। ज्ञापन में आरोप लगाया गया है कि पूर्व प्रधानपति गोपाल सिंह रायल भूमिहीन गरीब मजदूर ग्रामिणों को अतिक्रमण के नाम पर डराया धमका रहे है। ज्ञापन में ग्रामीणों ने गरीब भूमिहीन लोगों को उपरोक्त भूमि का मालिकाना हक दिलाने की मांग की है। ज्ञापन में ग्रामीणों ने अटल आर्दश ग्राम की सभी सुविधाओं से ग्राम सभा को लाभान्वित करने की मांग की है और इन सभी बिंदुओं पर कार्रवाही ना होने पर कल यानि 14 जून से जिलाधिकारी कार्यालय में आमरण करने की चेतावनी दी है। ज्ञापन की प्रति सांसद अजय टम्टा,विधायक मनोज तिवारी, एसएसपी,उप जिलाधिकारी,सीएमओ अल्मोड़ा,उत्तराखण्ड पेयजल संसाधन निर्माण निगम के अधिशासी ​अभियंता को भी दी गई है। ज्ञापन में धर्मानंद भट्ट,उर्वादत्त भट्ट,धर्मानंद भट्ट,उप प्रधान हरीश जोशी के हस्ताक्षर है।