Join WhatsApp

News-web

आदि कैलाश और ओम पर्वत यात्रा का आगाज़, पहला जत्था आज रवाना

Published on:

कुमाऊं मंडल विकास निगम (केएमवीएन) द्वारा आयोजित आदि कैलाश और ओम पर्वत यात्रा का पहला जत्था आज सुबह आठ बजे टीआरएच काठगोदाम से पिथौरागढ़ के लिए रवाना होगा। इस पहले जत्थे में 32 पुरुष और 17 महिलाओं सहित कुल 49 श्रद्धालु शामिल हैं।

गौरतलब हो, इस बार यात्रा को पर्यावरण संरक्षण से जोड़ा गया है। यात्रा के दौरान श्रद्धालु उच्च हिमालयी क्षेत्र ज्योलिंगकांग, कालापानी और नाभीढांग में भोजपत्र के पौधों का रोपण करेंगे। पर्यटक आवास गृह के प्रबंधक दिनेश गुरुरानी ने बताया कि हर जत्थे के यात्रियों को पांच भोजपत्र और स्थानीय प्रजाति के पौधे लगाने के लिए दिए जाएंगे। भोजपत्र के पौधे गोपेश्वर वन अनुसंधान केंद्र से मंगवाए जा रहे हैं।

आदि कैलाश यात्रा हिंदू धर्म में विशेष महत्व रखती है। कैलाश मानसरोवर की तरह आदि कैलाश को भी पवित्र माना जाता है। ओम पर्वत भी अपनी अनोखी प्राकृतिक संरचना के लिए प्रसिद्ध है, जहां बर्फ से स्वयंभू ओम की आकृति बनती है।

बता दें, केएमवीएन हर साल यह यात्रा आयोजित करता है, जिसमें देश विदेश से बड़ी संख्या में श्रद्धालु भाग लेते हैं। इस बार यात्रा में भोजपत्र पौधरोपण जैसे पर्यावरण संरक्षण के कार्य को जोड़ना एक सराहनीय कदम है।

यह न सिर्फ़ पर्यावरण के लिए लाभदायक होगा बल्कि यात्रा में भाग लेने वाले श्रद्धालुओं को भी पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरूक करेगा।