Join WhatsApp

News-web

7 टन मिला नकली आम, मचा हड़कंप, इन्हें खाने वालों को हो सकता है नुकसान , जानिए

बाजार में आम खूब बिक रहा है और इनके दीवाने ठेलों पर इन्हें देखते ही खरीदने को मजबूर होते हैं, हों भीं क्यो न… फलों का राजा जो है लेकिन कुछ लोग इस आम के जरिए भी लोगों की सेहत के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं।

इसकी वजह यह है कि बाजार में साधारण आम से अलग एक नकली आम की भी भरमार है, जो कि लोगों की सेहत को भारी नुकसान पहुंचा सकता है, जिसका एक बड़ा खुलासा तमिलनाडु से हुआ है।

बता दें कि नकली आम पेड़ से तोड़े जाते हैं लेकिन फिर इन्हें जल्दी बेचने के लिए कृत्रिम रूप से बकाया जाता है, जिसके चलते ही इन्हें नकली आम कहा जाता है।

इन नकली आमों को पकाने के लिए कैल्शियम कार्बाइड का इस्तेमाल किया जाता है, जबकि इसका इस्तेमाल पूरी तरह से बैन कर रखा गया है, क्योंकि इसकी मदद से पका हुआ फल इंसानों की सेहत के लिए बेहद खतरनाक होते हैं।

कैल्शियम कार्बाइड आसानी से बाजार में मिल जाता है, जो कि एक तरह के पत्थर की तरह होता है और इसीलिए लोग इसे चूना पत्थर भी बोलते हैं। कैल्शियम कार्बाइड से आम पकाने के लिए कच्चे आमों के बीच कार्बाइड को पोटली बनाकर रखा जाता है।

बता दें कि आम की टोकरी में कैल्शियम कार्बाइड के चारों तरफ आम रखे जाते हैं और फिर इसे एक बोरी में बंद करके रखा जाता है। 3-4 दिन तक ये आम बिना हवा वाली जगह पर रखे जाते हैं, जिसके चलते यह पक जाते हैं। कैल्शियम कार्बाइड को नमी के संपर्क में लाने से एसिटिलीन गैस बनती है और किसी भी तरह का फल पक जाता है।

कैल्शियम कार्बाइड से पके आम का सेवन लोगों के लिए खतरनाक हो सकता है। इसे खाने पर पेट में दर्द से लेकर डायरिया, उल्टी की समस्या हो सकती है। इतना ही नहीं, लोगों को सिरदर्द, दिमाग डिस्टर्ब होने से लेकर चक्कर आने तक की संभावना रहती है और लोगों को दौरा भी पड़ सकता है।