उत्तरा न्यूज
अभी अभी उत्तर प्रदेश

यहां कुल्हाड़ी से काटकर कर दी दलित परिवार के 4 लोगों की हत्या, मां बेटी संग बलात्कार का शक, कपड़े मिले अस्त व्यस्त

Old 500 or thousand notes worth over Rs 4 crore received from Uttarakhand

उत्तर प्रदेश के Prayagraaj से एक ऐसी खबर सामने आई है जिसने सभी को हैरान कर दिया है। यहां फाफामऊ थाना क्षेत्र के मोहनगंज फुलवरिया क्षेत्र में एक दलित परिवार के 4 लोगों की हत्या

कुल्हाड़ी से काटकर कर दी गई। गुरुवार सुबह जब शवों से बदबू उतनी शुरू हुई तो पड़ोसी मौके पर पहुंचे और जो उनहुने देखा उसे देखकर आस पड़ोस में हंगामा मच गया।

कुल्हाड़ी से पूर्व परिवार को काट दिया


फाफामऊ पुलिस का कहना है कि परिवार को आखिरी बार सोमवार यानी 22 नवंबर को देखा गया था।इसके बाद जब वो नही दिखे तो लोगों ने सोचा कि वो सब कहीं चले गए होंगे। लेकिन ऐसा नही हुआ था। आशंका है कि उसी रात में खाने के बाद जब परिवार के सभी लोग सो रहे थे तो देर रात गेट तोड़कर घर में कुछ हमलावर घुसे और उसके बाद उन्हौने जमकर आतंक मचाया। घर में घुसते ही उनके द्वारा माता-पिता और बेटा-बेटी की कुल्हाड़ी से काटकर हत्या कर दी।

रेप की भी जताई जा रही है आशंका

nitin communication

जब लोग घर पर पहुंचे तो उन्हौने देखा कि मां और बेतिः के कपड़े अस्त व्यस्त पड़े हुए थे। इससे आसंका जताई जा रही है कि उन दोनों के साथ पहले बलात्कार किया गया होगा और उसके बाद उनकी हत्या कर दी गयी होगी।

​​​​गांव के पांच दबंगों पर लगा आरोप


जिस व्यक्ति के परिवार को खत्म कर दिया गया है उसके भाई ने गांव के कुछ दबंगों पर आरोप लगाते हुए बताया है कि दो माह पहले उनके गांव के ही मनीष और अभय ठाकुर नाम के दो लोगों ने उन्हें जान से मारने की धमकी दी थी। इसके बाद घर उन्हौने घर में घुसकर मार पीट भी की। उनके द्वारा मामले की थाने में report भी लिखाई गई लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई।

पुलिस और लगाया समझौते के लिए दबाव डालने का आरोप

परिजनों का कहना है कि शिकायत के बाद पुलिस के द्वारा कारीवाही नही की गई बल्कि समझौते के लोई दबाव डाला गया था। समझौता न होने पर बुधवार की रात गांव के ही कमलेश ठाकुर, आकाश ठाकुर, रवि, मनीष, अभय ने घर में घुसकर हमारे भाई, भाभी, भतीजी और भतीजे की हत्या कर दी।

पुलिस पर लगाया मजाक बनाने का आरोप

मृतक की ननद और बहन ने बताया कि दबंगों के खिलाफ पुलिस ने report लिखाने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की। हम लोगों की कहीं सुनवाई नहीं होती। पुलिस दबंगों को बुलाकर कुर्सी देती है और हम लोगों को थाने से भगाती है। हमारा मजाक उड़ाते हैं। मृतक के भाई का कहना है कि अगर समय रहते पुलिस दबंगों के खिलाफ कार्रवाई करती तो आज ये नौबत न आती। हमारे परिवार की जान बच जाती। उन्होंने इस मामले में लापरवाही बरतने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ भी कार्रवाई की मांग की है।

ग्रामीणों में आक्रोश, हत्यारोपियों की गिरफ्तारी की मांग


घटना के बाद ग्रामीणों में आक्रोश है। गांव वालों ने हत्या के आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की है। उनका कहना है कि जब तक गिरफ्तारी नहीं होती, शव postmoterm के लिए नहीं जाने दिया जाएगा। मौके पर काफी संख्या में police force और ग्रामीण जुटे हैं।

दोषी पुलिसकर्मियों पर भी होगी कार्रवाई


DIG/SSP सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी का कहना है कि चार लोगों की dead body घर में मिली है। सभी के सिर पर धारदार हथियार से वार किया गया है। forensic team ने sample collect किए हैं। शवों को postmoterm के लिए भेजने की कार्रवाई की जा रही है। परिवार के लोगों ने जिन आरोपियों का इस हत्याकांड के पीछे नाम लिया है, उनमें से तीन संदिग्धों को हिरासत में ले लिया गया है। पूछताछ की जा रही है। इस घटना का खुलासा जल्दी ही किया जाएगा।

2019 और 2021 में कुछ लोगों के ऊपर SSC-ST एक्ट में report दर्ज की गई थी। परिजनों ने इस मामले में कार्रवाई न करने का आरोप लगाया है। इसकी जांच की जाएगी और दोषी पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई होगी।

Related posts

तो निजी स्कलों पर लगेगी लगाम !

Newsdesk Uttranews

Army Recruitment: कोविड जांच को पहुंचे युवाओं को बांटे फल, बिस्किट

Newsdesk Uttranews

माओवादी घटनाओं के आरोपित देवेन्द्र और भगवती भोज दोषमुक्त,साक्ष्यों के अभाव में न्यायालय ने दिया निर्णय

Newsdesk Uttranews
error: Content is protected !!