उत्तरा न्यूज
अभी अभी अल्मोड़ा शिक्षा

अल्मोड़ाः 10 वीं टॉपर रही संस्कृति को डीएम व सांसद ने किया सम्मानित, लोग दे रहे बधाईयां

10th topper Sanskriti honored by DM and MP

खबरें अब पाए whatsapp पर
Join Now

Almora: 10th topper Sanskriti honored by DM and MP

स्वतंत्रता दिवस के दिन संस्कृति को सम्मानित किया गया है। संस्कृति माल गांव में रहती है। उसके पिता गणेश सिंह बिष्ट जीजीआईसी में पीटीए अध्यक्ष भी हैं। वह टैक्सी यूनियन के कुमांउ महासंघ के उपाध्यक्ष और पूर्व में बीडीसी सदस्य भी रह चुके हैं। जीजीआईसी की छात्रा संस्कृति को सम्मानित किये जाने पर विद्यालय में भी हर्ष का माहौल है। प्रधानाचार्य सावित्री टम्टा ने बताया कि संस्कृति एक होनहार छात्रा है।


अल्मोड़ा, 17 अगस्त 2022- जीजीआईसी अल्मोड़ा की छात्र और कक्षा 10 की बोर्ड परीक्षा में मेरिट लिस्ट में 20वें स्थान पर रहने वाली संस्कृति बिष्ट को जिलाधिकारी वंदना व सांसद अजय टम्टा ने सम्मानित किया है।

10th topper Sanskriti  honored by DM and MP
10th topper Sanskriti With Her Father honored by DM and MP


स्वतंत्रता दिवस के दिन संस्कृति को सम्मानित किया गया है। संस्कृति माल गांव में रहती है। उसके पिता गणेश सिंह बिष्ट जीजीआईसी में पीटीए अध्यक्ष भी हैं। वह टैक्सी यूनियन के कुमांउ महासंघ के उपाध्यक्ष और पूर्व में बीडीसी सदस्य भी रह चुके हैं।
माता सुनीता बिष्ट गृहणी है

10th topper Sanskriti  honored by DM and MP
almora- 10th topper Sanskriti honored by DM and MP


जीजीआईसी की छात्रा संस्कृति को सम्मानित किये जाने पर विद्यालय में भी हर्ष का माहौल है। प्रधानाचार्य सावित्री टम्टा ने बताया कि संस्कृति एक होनहार छात्रा है। पढ़ाई लिखाई में अव्वल होने के साथ ही वह खेलकूद और अन्य गतिविधियों में भी बढ़ वढ कर प्रतिभाग करती हैं। वह कक्षा 9 भी भी अपनी कक्षा में प्रथम स्थान पर रहीं थी। संस्कृति को उनने परिचितों, और शिक्षिकाओं ने भी बधाईयां दी हैं।

संस्कृति का सपना प्रशासनिक सेवा में जाने का


संस्कृति अभी कक्षा 11 की छात्रा है और उसका सपना सिविल सेवा में जाकर देश सेवा करने का है। उन्होंने इस उपलब्धि का श्रेय अपने माता पिता और गुरूजनों को दिया है।


पीटीए अध्यक्ष ने की यह अपील


संस्कृति के पिता और जीजीआईसी में 2018 से लगातार पीटीए अध्यक्ष पद पर नियुक्त हो रहे गणेश सिंह बिष्ट ने अपनी पुत्री के इस उपलब्धि का श्रेय विद्यालय की शिक्षिकाओं को दिया है। उन्होंने कहा कि सभी को अपने बच्चों को प्राइवेट स्कूलों में पढ़ाने की एक होड़ सी लगी है। जबकि सरकारी विद्यालयों में पूरी तरह गुणवत्तापूर्ण शिक्षा दी जाती है। उन्होंने लोगों से अपने बच्चों को सरकारी स्कूलांें में पढ़ाने की अपील की है।

Related posts

‘सेकेड फॉरेस्ट ऑफ पिथौरागढ़ , वेस्टर्न हिमालया, इंडिया’ पुस्तक का हुआ विमोचन

Newsdesk Uttranews

असम में ड्रिलिंग साइट पर हादसे में ओएनजीसी के इंजीनियर की मौत

Newsdesk Uttranews

किच्छा में 21 वें दिन भी जारी रहा आशा वर्कर्स का धरना

Newsdesk Uttranews