Pithoragarh- विश्व पुस्तक दिवस : युवाओं ने किताबें पर की परिचर्चा

editor1
1 Min Read

पिथौरागढ़। विश्व पुस्तक दिवस के अवसर पर पिथौरागढ़ महाविद्यालय में लिटररी क्लब की ओर से ‘पुस्तक परिचर्चा और कविता पाठ’ कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें विभिन्न विभागों के छात्र-छात्राओं ने अपनी पढ़ी हुई पसंदीदा पुस्तकों, कहानी व काव्य संग्रहों पर विस्तार से बात रखी।

कार्यक्रम में सुधा मूर्ति की थ्री थाउसैंड स्टिचेस्, अनुराधा बेनिवाल द्वारा लिखी आज़ादी मेरा ब्रांड, नगोचि आदिची लिखित वी शुड आल बी फेमिनिस्ट्स, डार्क हॉर्स, अटॉमिक् हैबिट्स, पर्कस् ऑफ बीइंग वॉल्फ्लोवर् आदि पर समीक्षा पेश की गई। कार्यक्रम का संचालन करते हुए संचालक दीपक कापड़ी ने डिजिटल युग में किताबें पढ़ने की आदतों में परिवर्तन और वर्तमान में युवाओं द्वारा पसंद किये जा रहे साहित्य पर बात रखी।

शेफाली ने कहा कि प्रतिभागियों के उत्साह को देखते हुए इस कार्यक्रम को आगे से नियमित रूप से किया जाएगा। शीतल ने कहा कि इस तरह के कार्यक्रमों से छात्र-छात्राओं का मनोबल बढ़ता है और विभिन्न विभागों के बीच संवाद स्थापित होता है। कार्यक्रम में गरिमा, मेघा, अंजली, प्रफुल, रिया ने कविता पाठ किया व पुस्तकों पर विचार विमर्श किया।

Joinsub_watsapp